मोहम्मद अली  

मोहम्मद अली
मोहम्मद अली
पूरा नाम मौलाना मोहम्मद अली जौहर
जन्म 10 दिसम्बर, 1878
जन्म भूमि रामपुर, उत्तर प्रदेश
मृत्यु 4 जनवरी, 1931
मृत्यु स्थान इंग्लैण्ड
कर्म-क्षेत्र स्वतंत्रता सेनानी, पत्रकार और शिक्षाविद
शिक्षा बी.ए.
विशेष योगदान जामिया मिलिया विश्वविद्यालय' की स्थापना में अहम योगदान दिया।
पद भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष
अन्य जानकारी ये मौलाना शौकत अली के भाई थे। मोहम्मद अली और मौलाना शौकत अली भारतीय राजनीति में 'अली बन्धुओं' के नाम से प्रसिद्ध थे।
मोहम्मद अली जौहर (अंग्रेज़ी: Mohammad Ali Jouhar, जन्म- 10 दिसम्बर, 1878, रामपुर, उत्तर प्रदेश; मृत्यु- 4 जनवरी, 1931, इंग्लैण्ड) भारत के प्रसिद्ध स्वतंत्रता सेनानी, पत्रकार और शिक्षाविद थे। इन्होंने सन 1911 में 'कामरेड' नामक साप्ताहिक समाचार पत्र निकाला था। तत्कालीन अंग्रेज़ सरकार द्वारा 1914 में इस पत्र पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया था तथा मोहम्मद अली को चार साल की सज़ा दी गई। मोहम्मद अली ने 'खिलाफत आन्दोलन' में भी भाग लिया और अलीगढ़ में 'जामिया मिलिया विश्वविद्यालय' की स्थापना की, जो बाद में दिल्ली लाया गया। ये रायपुर रियासत के शिक्षाधिकारी भी बनाये गए थे।

जन्म

मोहम्मद अली का जन्म 10 दिसम्बर, 1878 ई. में रामपुर, उत्तर प्रदेश में हुआ था। ये मौलाना शौकत अली के भाई थे। मोहम्मद अली और मौलाना शौकत अली भारतीय राजनीति में 'अली बन्धुओं' के नाम से प्रसिद्ध थे। मोहम्मद अली रूहेला जनजाति के पठान थे। उनके पिता का नाम अब्दुल अली खान और माता का नाम आबादी बानो बेगम था। जब मौलाना मोहम्मद अली 5 वर्ष के थे तो उनके पिता की मृत्यु हो गई। पिता की मृत्यु के बाद सारी जिम्मेदारी उनकी माता को निभानी पड़ी। उनकी माता ने ही उनका पालन पोषण किया।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. मौलाना मोहम्मद अली जौहर की जीवनी (हिंदी) jivanihindi.com। अभिगमन तिथि: 02 जनवरी, 2020।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मोहम्मद_अली&oldid=653499" से लिया गया