बिशन नारायण धर  

बिशन नारायण धर
बिशन नारायण धर
पूरा नाम बिशन नारायण धर
जन्म 1864
जन्म भूमि बाराबंकी, उत्तर प्रदेश
मृत्यु 1916
नागरिकता भारतीय
प्रसिद्धि राजनीतिज्ञ
पार्टी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
संबंधित लेख भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस, कांग्रेस अधिवेशन
अन्य जानकारी बिशन नारायण धर सन 1911 में कलकत्ता में हुए भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अधिवेशन में अध्यक्ष बनाये गए थे। वे धर्म और सामाजिक सुधारों पर बहुत उदार विचारों वाले थे।

बिशन नारायण धर (अंग्रेज़ी: Bishan Narayan Dar, जन्म- 1864, उत्तर प्रदेश; मृत्यु- 1916) जाने माने लेखक और लोकप्रिय नेता थे। वे कलकत्ता नगर निगम के सदस्य और बंगाल विधान परिषद के सदस्य रहे थे। बिशन नारायण धर सन 1911 में कलकत्ता में हुए भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अधिवेशन में अध्यक्ष बनाये गए थे। इन पर पंडित आदित्य नाथ, कालाकांकर के राजा रामपाल सिंह, सुरेन्द्र नाथ बनर्जी तथा इंग्लैंण्ड में मिले लाल मोहन घोष और चंद्रावरकर आदि के विचारों का प्रभाव था।

परिचय

बिशन नारायण धर का जन्म सन 1864 में बाराबंकी, उत्तर प्रदेश में एक कश्मीरी परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम पंडित किशन नारायन धर था, जो एक सरकारी सेवा में मुंसिफ थे। उन्होंने अपनी शिक्षा की शुरुआत उर्दू और फ़ारसी के साथ अभिजात उत्तर भारतीय वर्ग की पारंपरिक शैली से की। उन्होंने अपनी कॉलेज शिक्षा लखनऊ में प्राप्त की। फिर वे इंग्लैंड चले गये, जहां उन्होंने क़ानून की पढ़ाई की और बार में चले गये। सन 1887 में वापसी के बाद उन्होंने अवध में वकील के रूप में अपनी प्रैक्टिस शुरू की। शीघ्र ही उनकी गणना अपने समय के प्रमुख अधिवक्ताओं में होने लगी। सार्वजनिक मामलों और अपने देश के कल्याण से जुड़े कामों में बिशन नारायण धर की रुचि थी, जिसके चलते वे अपने सफल पेशेवर कॅरियर को बहुत ज्यादा ऊंचाई नहीं दे पाये। सन 1892 में वे राजनीति में कूद पड़े और 1916 में हुई उनकी मृत्यु तक राष्ट्रीय आंदोलन में सबसे अधिक सक्रिय व्यक्तित्व के रूप में बने रहे।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 1.2 बिशन नारायण धर (हिन्दी) inc.in। अभिगमन तिथि: 3 जून, 2017।
  2. भारतीय चरित कोश |लेखक: लीलाधर शर्मा 'पर्वतीय' |प्रकाशक: शिक्षा भारती, मदरसा रोड, कश्मीरी गेट, दिल्ली |पृष्ठ संख्या: 545 |

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=बिशन_नारायण_धर&oldid=604661" से लिया गया