किशना भील  

किशना भील (अंग्रेज़ी: Krishna Bhil) भारत के क्रांतिकारी थे। माणिक्य लाल वर्मा की प्रेरणा से किशना भील युवावस्था में ही आजादी के आंदोलन से जुड़ गए थे।

  • बिजौलिया के किसान आंदोलन में इनकी भूमिका महत्वपूर्ण रही थी।
  • किशना भील ने लोगों को सियासती शासन के विरुद्ध आवाज उठाने के लिए जागृत किया।
  • डाबी किसान सम्मेलन के दौरान हुए गोलीकांड में किशना भील के पैर में गोली लगी थी।
  • किशना एक देशभक्त आंदोलनकारी नेता थे।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. पुस्तक- स्वतंत्रता सेनानी कोश (गांधीयुगीन)| लेखक- डॉ. एस.एल. नागौरी, श्रीमती कान्ता नागौरी | पृष्ठ संख्या- 115

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=किशना_भील&oldid=632177" से लिया गया