बजरंग बहादुर सिंह  

बजरंग बहादुर सिंह

बजरंग बहादुर सिंह (अंग्रेज़ी: Bajrang Bahadur Singh, जन्म- 1905; मृत्यु- 1973) भारतीय राजनीतिज्ञ और स्वतंत्रता सेनानियों में से एक थे। वह महात्मा गाँधी के असहयोग आंदोलन में भी सहभागी रहे। बजरंग बहादुर सिंह हिमाचल प्रदेश के उप-राज्यपाल भी रहे। वह अवध की तालुकदारी रियासत भदरी[1] के राजा थे।

  • राजा बजरंग बहादुर सिंह का विवाह सन 1926 में अजयगढ़ के महाराजा पुण्य प्रताप सिंह और महारानी रुक्मणी देवी की पुत्री रानी गिरिजा देवी से हुआ।
  • स्वतंत्रता संग्राम सेनानी राजा बजरंग बहादुर सिंह ने कई आंदोलनों में सक्रिय भूमिका निभाई।
  • स्वतंत्रता संग्राम के इतिहास में उनकी रियासत भदरी का कई स्थानों पर ज़िक्र है।
  • महात्मा गाँधी के असहयोग आंदोलन का राजा भदरी ने समर्थन किया और असहयोग आंदोलन में अपनी सक्रिय भूमिका दर्ज कराते हुए विदेशी वस्त्रों का बहिष्कार कर कपड़ों की होली जलायी।
  • स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद वर्ष 1955 में राजा बजरंग बहादुर हिमाचल प्रदेश के उप-राज्यपाल बने। 1 जनवरी, 1955 को उप-राज्यपाल पद पर उनकी नियुक्ति हुई। वह 13 अगस्त, 1963 तक इस पद पर रहे।
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. वर्तमान में, प्रतापगढ़ जिला में

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=बजरंग_बहादुर_सिंह&oldid=647231" से लिया गया