गिरिधर शर्मा नवरत्न  

गिरिधर शर्मा नवरत्न
Blankimage.png
पूरा नाम गिरिधर शर्मा
अन्य नाम 'नवरत्न'
जन्म 6 जून, 1881
जन्म भूमि झालरापाटन, राजस्थान
मृत्यु 1 जुलाई, 1961
अभिभावक पिता- ब्रजेश्वर शर्मा; माता- पन्ना देवी
मुख्य रचनाएँ आर्यशास्त्र, शुश्रूषा, आरोग्य दिग्दर्शन, राइ का पर्वत, ऋतु-विनोद आदि।
भाषा हिन्दी, हिंदी, अंग्रेज़ी, संस्कृत, प्राकृत, फ़ारसी
प्रसिद्धि लेखक
विशेष योगदान गिरिधर ने राष्ट्रभाषा हिन्दी का दीक्षा मंत्र दिया है, जिसके परिणाम स्वरूप अगले ही वर्ष लखनऊ के कांग्रेस अधिवेशन में देश की राष्ट्रभाषा हिन्दी घोषित कर दी गयी।
नागरिकता भारतीय
संबंधित लेख झालरापाटन, राजस्थान, आयुर्वेद, दर्शन
अन्य जानकारी वर्ष 1912 ई. में गिरिधर शर्मा जी ने झालरापाटन में श्री राजपूताना हिन्दी साहित्य सभा की स्थापना की जिसके संरक्षक झालावाड़ नरेश श्री भवानी सिंह जी बने।
अद्यतन‎ 05:18, 06 जून 2017 (IST)

गिरिधर शर्मा नवरत्न (जन्म- 6 जून, 1881, झालरापाटन, राजस्थान; मृत्यु- 1 जुलाई, 1961) हिन्दी साहित्य में द्विवेदी युग के ऐसे स्वनामधन्य व्यक्तित्व थे जो न केवल एक साहित्यकार तथा राष्ट्रभक्त भी थे। गांधी जी से इनकी मुलाकात हुई और उन्हें राष्ट्रभाषा हिन्दी का दीक्षा मंत्र दिया जिसके परिणाम स्वरूप अगले ही वर्ष लखनऊ के कांग्रेस अधिवेशन में देश की राष्ट्रभाषा हिन्दी घोषित कर दी गयी।

परिचय

गिरिधर शर्मा नवरत्न का जन्म 6 जून, 1881, रविवार को झालरापाटन, राजस्थान में हुआ था। इनके पिता ब्रजेश्वर शर्मा तथा माता पन्ना देवी थी।

शिक्षा

गिरिधर जी ने आरम्भिक में घर पर ही हिंदी, अंग्रेज़ी, संस्कृत, प्राकृत, फ़ारसी आदि भाषाओं की शिक्षा के बाद जयपुर से प्रश्न वर श्री कान्ह जी व्यास तथा परम वेदज्ञ द्रविड़ श्री वीरेश्वर जी शास्त्री से संस्कृत पंज्च काव्य तथा संस्कृत व्याकरण का अध्ययन किया। काशी में पंडित गंगाधर शास्त्री से संस्कृत साहित्य तथा दर्शन का विशिष्ट अध्ययन किया।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. सन 1897 में प्रकाशित
  2. सन 1901 में प्रकाशित
  3. हिन्दी साहित्य कोश भाग-2 |लेखक: डॉ. धीरेन्द्र वर्मा |प्रकाशक: ज्ञानमण्डल लिमिटेड, वाराणसी |संकलन: भारत डिस्कवरी पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 131 |

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=गिरिधर_शर्मा_नवरत्न&oldid=594187" से लिया गया