Notice: Undefined offset: 0 in /home/bharat/public_html/gitClones/live-development/bootstrapm/Bootstrapmskin.skin.php on line 41
हर्षनाथ (लेखक) - भारतकोश, ज्ञान का हिन्दी महासागर

हर्षनाथ (लेखक)  

Disamb2.jpg हर्षनाथ एक बहुविकल्पी शब्द है अन्य अर्थों के लिए देखें:- हर्षनाथ (बहुविकल्पी)

हर्षनाथ (जन्म- 1916, वाराणसी, उत्तर प्रदेश; मृत्यु- 1998) काशी के प्रसिद्ध साहित्यकार, कहानीकार तथा उपन्यासकारों में गिने जाते थे। इनकी कई प्रसिद्ध कहानियाँ 'सारिका' और 'धर्मयुग' जैसी पत्रिकाओं में प्रकाशित हुई थीं।[1]

  • सन 1916 को वाराणसी में जन्में प्रेमचन्दोत्तर कथा साहित्य के प्रमुख लेखक हर्षनाथ की पहली कहानी ‘कलकत्ते का मोची’ 'हंस' में प्रकाशित हुई थी।
  • हर्षनाथ की मुख्य रचनाएँ निम्नलिखित हैं-

उपन्यास - 'कमीने और शरीफ', 'एक बार फिर आदमी', 'करम और जगनी', 'पत्थर और दूध', 'राजा रिपु मर्दम', 'टूटे बंधन', 'रक्त के आँसू', 'धरती', 'धूप और बादल', 'अलग-अलग रास्ते', 'उड़ती धूल'

कहानी - 'हंस', 'नया पथ', 'कल्पना', 'ज्ञानोदय' आदि।

  • हर्षनाथ की कई कहानियाँ 'सारिका' और 'धर्मयुग' जैसी पत्रिकाओं में प्रकाशित हुईं।
  • इनका कहानी संग्रह 'रोती प्रतिमाएँ' और अन्य कहानियाँ इनकी मृत्यु के बाद वर्ष 2000 में वाराणसी में प्रकाशित हुई।
  • हर्षनाथ का निधन 1998 में हुआ।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. काशी के साहित्यकार (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 22 जनवरी, 2014।

संबंधित लेख