रघुवीर सहाय  

रघुवीर सहाय
रघुवीर सहाय
पूरा नाम रघुवीर सहाय
जन्म 9 दिसंबर, 1929
जन्म भूमि लखनऊ, उत्तर प्रदेश
मृत्यु 30 दिसंबर, 1990
मृत्यु स्थान दिल्ली
पति/पत्नी विमलेश्वरी सहाय
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र लेखक, कवि, पत्रकार, सम्पादक, अनुवादक
मुख्य रचनाएँ 'लोग भूल गये हैं', 'आत्महत्या के विरुद्ध', 'हंसो हंसो जल्दी हंसो', 'सीढ़ियों पर धूप में' आदि।
भाषा हिन्दी, अंग्रेज़ी
विद्यालय लखनऊ विश्वविद्यालय
शिक्षा एम. ए. (अंग्रेज़ी साहित्य)
पुरस्कार-उपाधि साहित्य अकादमी पुरस्कार (लोग भूल गए हैं)
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी रघुवीर सहाय 'नवभारत टाइम्स', दिल्ली में विशेष संवाददाता रहे। 'दिनमान' पत्रिका के 1969 से 1982 तक प्रधान संपादक रहे। उन्होंने 1982 से 1990 तक स्वतंत्र लेखन किया।
इन्हें भी देखें कवि सूची, साहित्यकार सूची

रघुवीर सहाय (अंग्रेज़ी: Raghuvir Sahay, जन्म- 9 दिसंबर, 1929, लखनऊ; मृत्यु- 30 दिसंबर, 1990, दिल्ली) की गणना हिंदी साहित्य के उन कवियों में की जाती है जिनकी भाषा और शिल्प में पत्रकारिता का प्रभाव होता था और उनकी रचनाओं में आम आदमी की व्यथा झलकती थी। रघुवीर सहाय एक प्रभावशाली कवि होने के साथ ही साथ कथाकार, निबंध लेखक और आलोचक थे। वह प्रसिद्ध अनुवादक और पत्रकार भी थे। उन्हें वर्ष 1982 में उनकी पुस्तक 'लोग भूल गये हैं' के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार दिया गया। उनकी अन्य पुस्तकें 'आत्महत्या के विरुद्ध', 'हंसो हंसो जल्दी हंसो' और 'सीढियों पर धूप में' भी काफ़ी चर्चित रहीं। सहाय का सम्बंध उस पीढी से था जो स्वतंत्रता के बाद काफ़ी सारी आकांक्षाओं के साथ पली-बढी थी। सहाय ने उन्हीं आकांक्षाओं को अपनी कविताओं में व्यक्त किया है। सहाय की गिनती ऐसे कवियों में भी की जाती है जो प्रेरणा के लिए अतीत में झांकने के बजाय भविष्योन्मुखी रहना पसंद करते थे।  

जन्म

रघुवीर सहाय का जन्म 9 दिसंबर, 1929 को लखनऊ में हुआ। उन्होंने 1955 में विमलेश्वरी सहाय से विवाह किया।

शिक्षा

रघुवीर सहाय 1951 में 'लखनऊ विश्वविद्यालय' से अंग्रेज़ी साहित्य में एम. ए. किया और साहित्य सृजन 1946 से प्रारम्भ किया। अंग्रेज़ी भाषा में शिक्षा प्राप्त करने पर भी उन्होंने अपना रचना संसार हिंदी भाषा में रचा। 'नवभारत टाइम्स के सहायक संपादक तथा 'दिनमान साप्ताहिक के संपादक रहे। पश्चात् स्वतंत्र लेखन में रत रहे। इन्होंने प्रचुर गद्य और पद्य लिखे हैं। रघुवीर सहाय 'दूसरा सप्तक के कवियों में हैं।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. रघुवीर सहाय (हिंदी) brandbihar.com। अभिगमन तिथि: 12 दिसम्बर, 2011।
  2. हैदराबाद
  3. दिल्ली
  4. रघुवीर सहाय.. लंबे समय तक याद रखे जाने वाले (हिंदी) (जागरण याहू इण्डिया)। । अभिगमन तिथि: 12 दिसम्बर, 2011।
  5. 5.0 5.1 5.2 5.3 रघुवीर दयाल तथा सर्वेश्वर दयाल सक्सेना की कहानियों में अभिव्यंजना शिल्प (हिंदी) (एच.टी.एम.एल) लेखनी। अभिगमन तिथि: 12 दिसम्बर, 2011।
  6. 'सीढ़ियों पर धूप में' भूमिका से

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=रघुवीर_सहाय&oldid=622405" से लिया गया