हरिवंश राय बच्चन  

हरिवंश राय बच्चन
Harivanshrai-Bachchan.jpg
पूरा नाम हरिवंश राय बच्चन
जन्म 27 नवंबर, 1907 ई.
जन्म भूमि इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश
मृत्यु 18 जनवरी, 2003 ई.
मृत्यु स्थान मुंबई, महाराष्ट्र
अभिभावक प्रताप नारायण श्रीवास्तव, सरस्वती देवी
पति/पत्नी श्यामा बच्चन, तेजी सूरी
संतान अमिताभ बच्चन, अजिताभ बच्चन
कर्म भूमि इलाहाबाद
कर्म-क्षेत्र अध्यापक, लेखक, कवि
मुख्य रचनाएँ मधुशाला, मधुबाला, मधुकलश, तेरा हार, निशा निमंत्रण, मैकबेथ, जनगीता, दो चट्टाने
विषय कविता, कहानी, आत्मकथा/रचनावली
भाषा हिन्दी
विद्यालय इलाहाबाद विश्वविद्यालय, कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय
शिक्षा एम. ए. (अंग्रेज़ी), पी. एच. डी.
पुरस्कार-उपाधि साहित्य अकादमी पुरस्कार (1968), सोवियत लैंड नेहरू पुरस्कार, एफ्रो एशियाई सम्मेलन के कमल पुरस्कार, सरस्वती सम्मान, पद्म भूषण (1976)
नागरिकता भारतीय
संबंधित लेख अमिताभ बच्चन, अभिषेक बच्चन, जया बच्चन, ऐश्वर्या राय बच्चन
अन्य जानकारी हरिवंशराय बच्चन ने महू और सागर में फ़ौजी प्रशिक्षण लिया था और लेफ्टिनेंट बनकर कंधे पर दो सितारे लगाने का अधिकार पाया था।
इन्हें भी देखें कवि सूची, साहित्यकार सूची
हरिवंश राय बच्चन की रचनाएँ

हरिवंश राय बच्चन (अंग्रेज़ी: Harivansh Rai Bachchan, जन्म: 27 नवंबर, 1907; मृत्यु: 18 जनवरी, 2003) हिन्दी भाषा के प्रसिद्ध कवि और लेखक थे। इनकी प्रसिद्धि इनकी कृति 'मधुशाला' के लिये अधिक है। हरिवंश राय बच्चन के पुत्र अमिताभ बच्चन भारतीय सिनेमा जगत के प्रसिद्ध सितारे हैं।

जीवन परिचय

27 नवंबर, 1907 को इलाहाबाद, उत्तर प्रदेश में जन्मे हरिवंश राय बच्चन हिन्दू कायस्थ परिवार से संबंध रखते हैं। यह 'प्रताप नारायण श्रीवास्तव' और 'सरस्वती देवी' के बड़े पुत्र थे। इनको बाल्यकाल में 'बच्चन' कहा जाता था जिसका शाब्दिक अर्थ 'बच्चा या संतान' होता है। बाद में हरिवंश राय बच्चन इसी नाम से मशहूर हुए। 1926 में 19 वर्ष की उम्र में उनका विवाह 'श्यामा बच्चन' से हुआ जो उस समय 14 वर्ष की थी। लेकिन 1936 में श्यामा की टी.बी के कारण मृत्यु हो गई। पाँच साल बाद 1941 में बच्चन ने पंजाब की तेजी सूरी से विवाह किया जो रंगमंच तथा गायन से जुड़ी हुई थीं। इसी समय उन्होंने 'नीड़ का पुनर्निर्माण' जैसे कविताओं की रचना की। तेजी बच्चन से अमिताभ तथा अजिताभ दो पुत्र हुए। अमिताभ बच्चन एक प्रसिद्ध अभिनेता हैं। तेजी बच्चन ने हरिवंश राय बच्चन द्वारा 'शेक्सपीयर' के अनुदित कई नाटकों में अभिनय किया है।

शिक्षा

हरिवंश राय बच्चन की शिक्षा इलाहाबाद तथा 'कैम्ब्रिज विश्वविद्यालयों' में हुई। इन्होंने कायस्थ पाठशालाओं में पहले उर्दू की शिक्षा ली जो उस समय क़ानून की डिग्री के लिए पहला क़दम माना जाता था। इसके बाद उन्होंने इलाहाबाद विश्वविद्यालय से अंग्रेज़ी में एम. ए. और कैम्ब्रिज विश्वविद्यालय से पी.एच.डी. किया।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. अँधेरे का दीपक -हरिवंश राय बच्चन
  2. 'मधुशाला' का एक अंग्रेज़ी अनुवाद 'हाउस आफ़ वाइन' के नाम से लंदन से प्रकाशित हुआ (रूपान्तरकार-मार्जरी बोल्टन तथा रामस्वरूप व्यास
  3. कान उमेठना, लड़कों अथवा छोटे नौकरों को सज़ा देने के लिए उनके कान मलना।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=हरिवंश_राय_बच्चन&oldid=618320" से लिया गया