हरिकृष्ण 'जौहर'  

हरिकृष्ण 'जौहर'
हरिकृष्ण 'जौहर'
पूरा नाम हरिकृष्ण 'जौहर'
जन्म 1880
जन्म भूमि काशी, उत्तर प्रदेश
मृत्यु 11 फ़रवरी, 1945
मृत्यु स्थान काशी
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र लेखन
मुख्य रचनाएँ ‘राजे हैरत', 'हरीफ़’, 'जापान वृतांत', 'अफ़ग़ानिस्तान का इतिहास', 'विज्ञान व वाजीगर', 'भारत के देशी राज्य' आदि।
भाषा हिन्दी, फ़ारसी, उर्दू
प्रसिद्धि उपन्यास लेखक
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी आपने काशी के मामूरगंज नामक स्थान पर हिन्दी प्रेस की स्थापना की और ‘आधार’ नामक हिन्दी साहित्यिक पत्र निकाला, जो 'हिटलर चेम्बरलिन सन्धि' के बाद बन्द कर दिया गया।
इन्हें भी देखें कवि सूची, साहित्यकार सूची

हरिकृष्ण 'जौहर' (जन्म- 1880, काशी, उत्तर प्रदेश; मृत्यु- 11 फ़रवरी, 1945, काशी) का नाम हिन्दी के आरम्भिक उपन्यास लेखकों में बड़े आदर के साथ लिया जाता है। इनका तिलस्मी तथा जासूसी उपन्यास लेखकों में महत्त्वपूर्ण स्थान है। हरिकृष्ण 'जौहर' ने तिलस्मी उपन्यासों की दिशा में बाबू देवकीनंदन खत्री द्वारा स्थापित उपन्यास परंपरा को विकसित करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया था।

जन्म तथा शिक्षा

हरिकृष्ण 'जौहर' का जन्म 1880 ई. में उत्तर प्रदेश की प्रसिद्ध धार्मिक नगरी काशी (वर्तमान बनारस) के एक खत्री परिवार में हुआ था। इनके पिता का नाम मुंशी रामकृष्ण था, जो कोहली काशी के महाराज ईश्वरीप्रसाद नारायण सिंह के प्रधानमंत्री थे। शैशवास्था में ही जौहर के माता-पिता का स्वर्गवास हो गया। इनकी प्रारंभिक शिक्षा फ़ारसी के माध्यम से हुई।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. काशी के साहित्यकार (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 11 जनवरी, 2014।
  2. हिन्दी के लघु उपन्यास (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 11 जनवरी, 2014।

संबंधित लेख

[[Category:]]
और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=हरिकृष्ण_%27जौहर%27&oldid=529829" से लिया गया