किशोरी लाल गुप्त  

किशोरी लाल गुप्त का जन्म वर्ष 1916 में भदोही, उत्तर प्रदेश में हुआ था। ये पण्डित विश्वनाथ प्रसाद मिश्र के प्रमुख शिष्यों में से एक थे।[1]

  • 'हिन्दी साहित्य का प्रथम इतिहास' ग्रन्थ का सम्पादन किशोरी लाल गुप्त की प्रमुख कृति है।
  • इन्हें 'विन्ध गौरव' से सम्मानित किया गया था।
  • गुप्त जी की कृति 'हिन्दी साहित्य का प्रथम इतिहास' हिन्दी प्रचारक संस्थान वाराणसी से प्रकाशित हुई थी।
  • किशोरी लाल गुप्त की अन्तिम प्रकाशित कृति सूरसागर की टीका चार खण्डों में है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. काशी के साहित्यकार (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 22 जनवरी, 2014।

संबंधित लेख