रूप नारायण पांडेय  

रूपनारायण पांडेय (जन्म- 1884, लखनऊ, उत्तर प्रदेश; मृत्यू- 12 जून, 1958) उच्च कोटि के कवि होने के साथ-साथ साहित्यकार और पत्रकार थे। वे हिंदी, बांगला और अंग्रेजी आदि भाषाओं के अच्छे जानकार थे।

परिचय

हिंदी के कवि, संपादक, साहित्यकार, ग्रन्थकार और बांग्ला भाषा से अनुवाद करके हिंदी को समृद्ध करने वाले रूपनारायण पांडेय का जन्म 1884 को लखनऊ में हुआ था। उन्होंने संस्कृत की शिक्षा के साथ-साथ बांग्ला ,अंग्रेजी आदि भाषाएं अपने अध्यवसाय से सीखीं। उन्होंने बांग्ला भाषा से अनुवाद करके हिंदी भाषा को समृद्ध किया है। उन्होंने 17 वर्ष की उम्र में 'शुकोक्ति सुधासागर' नाम से श्रीमद्भागवत का हिंदी में अनुवाद कर दिया था।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. भारतीय चरित कोश |लेखक: लीलाधर शर्मा 'पर्वतीय' |प्रकाशक: शिक्षा भारती, मदरसा रोड, कश्मीरी गेट, दिल्ली |पृष्ठ संख्या: 751 |

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=रूप_नारायण_पांडेय&oldid=631231" से लिया गया