अम्बिका प्रसाद दिव्य  

अम्बिका प्रसाद दिव्य
अम्बिका प्रसाद दिव्य
पूरा नाम अम्बिका प्रसाद दिव्य
जन्म 16 मार्च, 1906
जन्म भूमि पन्ना, मध्य प्रदेश
मृत्यु 5 सितम्बर, 1986
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र उपन्यासकार और कवि
मुख्य रचनाएँ 'प्रीताद्रि की राजकुमारी', 'सती का पत्थर', 'अंतर्जगत', 'भारत माता' आदि।
भाषा हिंदी, अंग्रेज़ी, संस्कृत, फ़ारसी और उर्दू
शिक्षा एम.ए. (हिंदी)
अन्य जानकारी दिव्य जी का पद्य साहित्य मैथिलीशरण गुप्त, नाटक साहित्य रामकुमार वर्मा तथा उपन्यास साहित्य वृंदावनलाल वर्मा जैसे प्रसिद्ध साहित्यकारों के काफ़ी निकट है।
इन्हें भी देखें कवि सूची, साहित्यकार सूची
अम्बिका प्रसाद दिव्य (अंग्रेज़ी: Ambika Prasad Divya, जन्म- 16 मार्च, 1906, पन्ना, मध्य प्रदेश; मृत्यु- 5 सितम्बर, 1986) भारत के जाने-माने शिक्षाविद और हिन्दी साहित्यकार थे। वे बहुमुखी प्रतिभा के धनी व्यक्ति थे। अंग्रेज़ी, संस्कृत, रूसी, फ़ारसी और उर्दू सहित कई अन्य भाषाओं के वे जानकार थे। दिव्य जी का पद्य साहित्य मैथिलीशरण गुप्त, नाटक साहित्य रामकुमार वर्मा तथा उपन्यास साहित्य वृंदावनलाल वर्मा जैसे प्रसिद्ध साहित्यकारों के काफ़ी निकट है।

जन्म तथा शिक्षा

अम्बिका प्रसाद दिव्य का जन्म 16 मार्च, 1906 को अजयगढ़, पन्ना ज़िला (मध्य प्रदेश) के एक सुसंस्कृत कायस्थ परिवार में हुआ था। इन्होंने अपनी परास्नातक की डिग्री (एम.ए.) हिन्दी विषय से प्राप्त की थी। दिव्य जी ने मध्य प्रदेश शिक्षा विभाग से सेवा कार्य प्रारंभ किया, जहाँ से वे प्राचार्य पद से सेवानिवृत्त हुए थे। वे अंग्रेज़ी, संस्कृत, रूसी, फ़ारसी और उर्दू भाषाविद थे।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=अम्बिका_प्रसाद_दिव्य&oldid=620841" से लिया गया