गिरिधर शर्मा चतुर्वेदी  

गिरिधर शर्मा चतुर्वेदी
Blankimage.png
पूरा नाम गिरिधर शर्मा चतुर्वेदी
जन्म 29 दिसम्बर, 1881 ई.
जन्म भूमि जयपुर, राजस्थान
मुख्य रचनाएँ 'महाकाव्य संग्रह', 'महर्षि कुलवैभव', 'ब्रह्म सिद्धांत', 'प्रमेयपारिजात','स्मृति विरोध परिहार'
भाषा हिन्दी, संस्कृत
पुरस्कार-उपाधि गिरिधर जी की 'वैदिक विज्ञान' और 'भारतीय संस्कृति' पुस्तक उत्तर प्रदेश और राजस्थान सरकारों द्वारा पुरस्कृत हुई है।
प्रसिद्धि लेखक, साहित्यकार
विशेष योगदान इनमें भारतीय वैदिक तथा शास्त्रीय परम्पराओं के महत्त्व पर विचार के साथ ही उनका वैज्ञानिक एवं दार्शनिक विवेचन एवं विश्लेषण प्रस्तुत किया गया है।
नागरिकता भारतीय
संबंधित लेख पंजाब विश्वविद्यालय, काशी हिन्दू विश्वविद्यालय, संस्कृत, हिन्दी
अन्य जानकारी 'गीता व्याख्यान' तथा 'पुराण पारिजात' गिरिधर शर्मा जी की नवीनतम कृतियाँ हैं।

गिरिधर शर्मा चतुर्वेदी (जन्म- 29 दिसम्बर, 1881 ई., जयपुर, राजस्थान) पंजाब विश्वविद्यालय में शिक्षा-शास्त्री, जयपुर विश्वविद्यालय में व्याकरणाचार्य तथा काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के वाचस्पति थे। गिरिधर जी सन 1951-52 ई. में भारत सरकार की संविधान संस्कृतानुवाद समिति के सदस्य रहे तथा सन 1930 और 1940 ई. में हिन्दी साहित्य सम्मेलन के दर्शन-परिषद के सभापति रहे थे।

परिचय

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. संस्कृत
  2. हिन्दी साहित्य कोश भाग-2 |लेखक: डॉ. धीरेन्द्र वर्मा |प्रकाशक: ज्ञानमण्डल लिमिटेड, वाराणसी |संकलन: भारत डिस्कवरी पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 131 |

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख