शिवानी  

शिवानी
शिवानी
पूरा नाम गौरा पंत ‘शिवानी’
जन्म 17 अक्टूबर, 1923
जन्म भूमि राजकोट, गुजरात
मृत्यु 21 मार्च, 2003
मृत्यु स्थान दिल्ली
अभिभावक अश्विनीकुमार पाण्डे
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र उपान्यासकार
भाषा हिंदी, गुजराती
विद्यालय शांतिनिकेतन
शिक्षा बी.ए.
पुरस्कार-उपाधि पद्मश्री
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी शिवानी की माँ गुजरात की विदुषी, पिता अंग्रेज़ी के लेखक थे।
इन्हें भी देखें कवि सूची, साहित्यकार सूची

गौरा पंत ‘शिवानी’ (जन्म- 17 अक्टूबर, 1923 ; मृत्यु- 21 मार्च, 2003) हिन्दी की सुप्रसिद्ध उपन्यासकार थीं। हिंदी साहित्य जगत में शिवानी एक ऐसी शख्सियत रहीं, जिनकी हिंदी, संस्कृत, गुजराती, बंगाली, उर्दू तथा अंग्रेज़ी पर अच्छी पकड थी और जो अपनी कृतियों में उत्तर भारत के कुमायूँ क्षेत्र के आसपास की लोक संस्कृति की झलक दिखलाने और किरदारों के बेमिसाल चरित्र चित्रण करने के लिए जानी गई। महज 12 वर्ष की उम्र में पहली कहानी प्रकाशित होने से लेकर उनके निधन तक उनका लेखन निरंतर जारी रहा। उनकी अधिकतर कहानियां और उपन्यास नारी प्रधान रहे। इसमें उन्होंने नायिका के सौंदर्य और उसके चरित्र का वर्णन बड़े दिलचस्प अंदाज में किया।

जीवन परिचय

शिवानी आधुनिक अग्रगामी विचारों की समर्थक थीं। शिवानी का जन्म 17 अक्टूबर, 1923 को विजयादशमी के दिन गुजरात के पास राजकोट शहर में हुआ था। शिवानी के पिता श्री अश्विनीकुमार पाण्डे राजकोट में स्थित राजकुमार कॉलेज के प्रिंसिपल थे, जो कालांतर में माणबदर और रामपुर की रियासतों में दीवान भी रहे। शिवानी के माता और पिता दोनों ही विद्वान संगीत प्रेमी और कई भाषाओं के ज्ञाता थे। शिवानी ने पश्चिम बंगाल के शांति निकेतन से बी.ए. किया। साहित्य और संगीत के प्रति एक गहरा रुझान ‘शिवानी’ को अपने माता और पिता से ही मिला। शिवानी के पितामह संस्कृत के प्रकांड विद्वान पंडित हरिराम पाण्डे, जो बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय में धर्मोपदेशक थे, वह परम्परानिष्ठ और कट्टर सनातनी थे। महामना मदनमोहन मालवीय से उनकी गहरी मित्रता थी। वे प्रायः अल्मोड़ा तथा बनारस में रहते थे, अतः शिवानी का बचपन अपनी बड़ी बहन तथा भाई के साथ दादाजी की छत्रछाया में उक्त स्थानों पर बीता। शिवानी की किशोरावस्था शान्तिनिकेतन में और युवावस्था अपने शिक्षाविद पति के साथ उत्तर प्रदेश के विभिन्न भागों में बीती। शिवानी के पति के असामयिक निधन के बाद वे लम्बे समय तक लखनऊ में रहीं और अन्तिम समय में दिल्ली में अपनी बेटियों तथा अमेरिका में बसे पुत्र के परिवार के साथ रहीं[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 कस्तूरी मृग (हिन्दी) (पी.एच.पी) भारतीय साहित्य संग्रह। अभिगमन तिथि: 4 अप्रैल, 2011
  2. 2.0 2.1 2.2 शिवानी (हिन्दी) (एच टी एम) अभिव्यक्ति। अभिगमन तिथि: 4 अप्रैल, 2011
  3. सुयाल, सुनील। श्रद्धांजलि शिवानी "गौरा पंत- हिन्दी साहित्य का एक चमकता सितारा (हिन्दी) (एच टी एम) पुण्य भूमि-भारत। अभिगमन तिथि: 4 अप्रैल, 2011
  4. शिवानी / परिचय (हिंदी) गद्यकोश। अभिगमन तिथि: 20 मार्च, 2013।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=शिवानी&oldid=621052" से लिया गया