डॉ. तुलसीराम  

डॉ. तुलसीराम
डॉ. तुलसीराम
पूरा नाम डॉ. तुलसीराम
जन्म 1 जुलाई, 1949
मृत्यु 13 फ़रवरी, 2015
मृत्यु स्थान दिल्ली
पति/पत्नी प्रभा चौधरी
संतान पुत्री- अंगिरा
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र साहित्य
मुख्य रचनाएँ 'मुर्दहिया' और 'मणिकर्णिका'।
विद्यालय बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय
प्रसिद्धि साहित्यकार, विद्वान
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी डॉ. तुलसीराम की लेखनी की एक विशेषता है, जो उन्हें तमाम दलित लेखकों से अलग करती है। वह है- उनके अचेतन पर बुद्ध का गहरा प्रभाव।
इन्हें भी देखें कवि सूची, साहित्यकार सूची

डॉ. तुलसीराम (अंग्रेज़ी: Dr. Tulsiram, जन्म- 1 जुलाई, 1949; मृत्यु- 13 फ़रवरी, 2015, दिल्ली) दलित लेखन में अपना एक अलग स्थान रखने वाले साहित्यकार थे। उनके लेखन में शांति, अहिंसा और करुणा व्याप्त है। वे गहन अध्येता और विद्वान् थे।

परिचय

डॉ. तुलसीराम का जन्म 1 जुलाई सन 1949 में हुआ था। उनकी पत्नी का नाम प्रभा चौधरी है तथा एक पुत्री है अंगिरा।[1] आजमगढ़ से तालुक्कात रखने वाले डॉ. तुलसी राम बचपन में सामाजिक मान्यताओं और बंधनों से जुझे। उनका बचपन सामाजिक एवं आर्थिक कठिनाइयों में बीता। ग़रीबी का अभाव उनकी ज़िदगीं में साये की तरह रहा, लेकिन आरंभिक जीवन में उन्हें जो आर्थिक, सामाजिक और मानसिक पीड़ा झेलनी पड़ी, उसकी उनके जीवन और साहित्य में मुखर अभिव्यक्ति हुई।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. डॉ. तुलसीराम के व्यक्तित्व और कृतित्व की एक झलक (हिंदी) aajtak.intoday.in। अभिगमन तिथि: 02 नवम्बर, 2016।
  2. डॉ तुलसीरामः मणिकर्णिका के भगीरथ का अवसान (हिंदी) rstv.nic.in। अभिगमन तिथि: 02 नवम्बर, 2016।

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=डॉ._तुलसीराम&oldid=622886" से लिया गया