मलय  

मलय आधुनिक मलय प्रायद्वीप है। इसका भारत से दीर्घकालीन सम्बन्ध रहा है।

  • इसके नाम से प्रतीत होता है कि इसका कोई सम्बन्ध प्रसिद्ध मालव गण से रहा है, किन्तु इस विषय में कोई भी सूचना अभी तक उपलब्ध नहीं है।
  • बौद्ध जातक कथाओं तथा टाल्मी के भूगोल से संकेत मिलता है कि भारतीयों में यह स्वर्णद्वीप अथवा स्वर्णभूमि के रूप में विख्यात था और मलय व भारत के बीच ख़ूब व्यापार होता था।
  • मलय प्रायद्वीप तथा कम्बोडिया में प्रारम्भिक पाँचवी शताब्दी ई. के संस्कृत शिलालेख प्राप्त हुए हैं।
  • दक्षिण-पूर्व एशिया में शैलेन्द्र वंश के राजाओं ने जिस विशाल साम्राज्य की स्थापना की थी, उसमें मलय भी सम्मिलित था।
  • इन राजाओं का बंगाल तथा भारत से निकट सम्पर्क था।
  • तेरहवीं शताब्दी ई. में, जब भारत में मुसलमानी शासन की स्थापना हुई, मलय और भारत के सांस्कृतिक सम्बन्ध टूट गये।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मलय&oldid=285333" से लिया गया