बहमनाबाद  

बहमनाबाद वर्तमान समय में पाकिस्तान में सिन्धु नदी के मुहाने के निकट स्थित अति प्राचीन नगर है।

  • विसेंट स्मिथ के अनुसार इस नगर का नाम ईरान के शाह बहमन अथवा अहसुर (465-425 ई.पू.) के नाम पर हुआ था।
  • गुशतासिब का पौत्र था, किंतु यहाँ प्रागैतिहासिक अवशेष मिलने के कारण यह स्थान इससे कहीं भी अधिक प्राचीन जान पड़ता है।
  • अकक्षेंद्र सिकन्दर के आक्रमण के कारण के वृत्तांत में ग्रीक लेखकों ने इस पटल नामक नगर के बारे में उल्लेख किया है।
  • वह भी बहमनाबाद के निकट ही स्थित होगा।
  • एरियन ने इसे ब्रेह्म्नोई (Brahmanoi) ने लिखा है और प्लूटार्क ने भी इसका उल्लेख किया है।
  • राजशेखर ने काव्य मीमांसा में इसे 'ब्राह्मणावह' लिखा है।
  • अलक्षेंद्र (सिकन्दर) के इतिहास-लेखकों के अनुसार इसी स्थान से यवन आक्रांता ने अपनी सेना के एक भाग को समुद्र द्वारा अपने देश को वापस भेजना निश्चित किया था।
  • सन 1957 में पाकिस्तान शासन की ओर से इस स्थान पर खुदाई करवाई गई थी, जिससे बहमनाबाद की अति प्राचीन बस्ती के अवशेष प्राप्त हुए हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=बहमनाबाद&oldid=489877" से लिया गया