जिब्राल्टर  

जिब्राल्टर एक स्वशासी ब्रिटिश विदेशी क्षेत्र है, जो औबेरियन प्राय:द्वीप और यूरोप के दक्षिणी छोर पर भूमध्य सागर के प्रवेश द्वार पर स्थित है।

  • यह एक चट्टानी प्राय:द्वीप है, जो स्पेन के मूल स्थल से दक्षिण की ओर समुद्र में निकला हुआ है।
  • लगभग 6.843 वर्ग किलोमीटर (2.642 वर्ग मील) में फैले इस देश की सीमा उत्तर में स्पेन से मिलती है।
  • जिब्राल्टर ऐतिहासिक रूप से ब्रिटेन के सशस्त्र बलों के लिए एक महत्वपूर्ण आधार रहा है और शाही नौसेना का एक आधार है।
  • भौगोलिक दृष्टिकोण से जिब्राल्टर 350 55' उत्तरी अक्षांश तथा 50 40' पश्चिमी देशांतर पर स्थित है।
  • जिब्राल्टर के पूर्वं में भूमध्य सागर तथा पश्चिम में ऐलजेसियरास की खाड़ी है। 1713 ई. से यह अंग्रेज़ी साम्राज्य के उपनिवेश तथा प्रसिद्ध छावनी के रूप में है।
  • इसके चट्टानी प्राय:द्वीप को चट्टान कहते हैं। चट्टान समुद्र की सतह से एकाएक ऊपर उठती दृष्टिगोचर होती है। यह चट्टानी स्थलखंड उत्तर-दक्षिण में फैली हुई पतली श्रेणी द्वारा बीच में विभक्त होता है, जिस पर कई ऊँची चोटियाँ हैं।
  • यहाँ की चट्टानें चूना पत्थर की बनी हैं, जिनमें कई स्थलों पर प्राकृतिक गुफाएँ निर्मित हो गई हैं। कुछ गुफाओं में प्राचीन जीव जंतुओं के चिह्न भी पाए गए हैं।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. जिब्राल्टर (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 16 मई, 2014।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=जिब्राल्टर&oldid=491012" से लिया गया