काशगर  

काशगर का एक दृश्य

काशगर मध्य तुर्कीस्तान का एक राज्य है, जो पहले चीन के नियंत्रण में था। काशगर लम्बे अरसे से 'रेशम मार्ग की मोती' के नाम से मशहूर रहा है। यह पहले चीन का एक नामी प्राचीन शहर था।

  • कुषाण सम्राट कनिष्क (लगभग 120-44 ई.) ने 'काशगर' को अपने अधीन कर लिया था।
  • चीनी यात्री ह्वेनसांग के यात्रा विवरण से प्रकट होता है कि, सातवीं शताब्दी में काशगर में बौद्ध धर्म का व्यापक प्रभाव था।
  • पुरातात्विक अनुसन्धानों से प्रकट हुआ है कि, इस क्षेत्र में भारतीय संस्कृति का प्रचार-प्रसार विशेष रूप से था।
  • काशगर में पर्यटन के संसाधन प्रचुर मात्रा में उपलब्ध हैं।
  • वहाँ का प्राकृतिक सौंदर्य बहुत मोहक है, ख़ासकर रेगिस्तान का दौरा, हिमनदी पर अन्वेक्षण तथा पहाड़ों पर सैर विभिन्न देशों के पर्यटकों की पहली पसंद है।
  • यहाँ पर बड़ी संख्या में मानवी और सांस्कृतिक निर्माण देखने को मिलते हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=काशगर&oldid=255448" से लिया गया