एल्यूसिस  

एल्यूसिस ग्रीस का एक प्राचीन नगर है। यह एथेंस से 14 मील पश्चिम, इसी नाम की खाड़ी पर, सलामिस द्वीप के सामने बसा है। यह प्रशस्त मार्ग द्वारा एथेंस से मिला हुआ है। नगर के प्राचीन स्थान के पास आजकल लेफसीना नामक नया नगर बस गया है। इसके पश्चिम में रारियन मैदान है जहाँ डिमीटर ने सर्वप्रथम मक्का के बीज बोए थे ग्रीक पुरातत्व विभाग ने सन्‌ 1882 ई. में खुदाई कर ट्रेलेस्ट्रियन अथवा दीक्षाभवन की क्रमिक अवस्थाओं का उद्घाटन किया है। इसके मुख्य द्वार के पास ही रोमन कालीन आर्तेमिस प्रोपीलिया छठी श्ताब्दी की कृति मानी जाती है। छोटा प्रोपीलिया सिसरो के समकालीन अप्पियस क्लौडियस पलचेर द्वारा निर्मित हुआ था। यहाँ की पक्की सड़क टेलेस्ट्रियन के द्वार तक गई है। छोटे प्रोपीलिया के ऊपर प्लूटो की प्रतिमा है। यहाँ एक प्राकृतिक कुंड है, जहाँ तक पहुँचने के लिए चट्टान काटकर सीढ़ियाँ बनाई गई हैं। यहाँ युबोलियस नामक प्रसिद्ध खोपड़ी पाई गई थी जो आजकल एथेंस में है। टेलेस्ट्रियन एक ढका हुआ विशाल भवन था जो 170 फुट वर्गाकार था। इसके चारों ओर सीढ़ियाँ बनी थीं। इसके विशाल गर्भगृह की उत्तर पश्चिम दिशा को छोड़कर अन्य ओर दो द्वार थे। सीढ़ियों पर दर्शकगण बैठते थे और मध्य भूमि पर रहस्य साधना की पूजाविधियाँ संपन्न होती थीं। इस रहस्यात्मक साधनापद्धति की अनेक रोमांचक कथाएँ ग्रीक साहित्य में मिलती हैं।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. हिन्दी विश्वकोश, खण्ड 2 |प्रकाशक: नागरी प्रचारिणी सभा, वाराणसी |संकलन: भारत डिस्कवरी पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 255 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=एल्यूसिस&oldid=633210" से लिया गया