पोल्लन्नरूवा  

पोल्लन्नरूवा एक शहर, जो उत्तर-मध्य श्रीलंका (सीलोन) में महावेली नदी के तट पर स्थित है। यह प्राचीन सीलोन की राजधानी था, जो बहुत पहले उजड़ चुका था, लेकिन आधुनिक काल में इसे फिर से बसाया गया है।

  • 368 ई. में पोल्लन्नरूवा सीलोन के राजाओं का निवास स्थान बना और आठवीं शताब्दी में, जब राजधानी अनुराधापुर पर तमिलों का क़ब्ज़ा हो गया, तो इसे ही राजधानी बनाया गया।
  • इस क्षेत्र में धान और तम्बाकू के खेतों की सिंचाई के लिए एक प्रचीन जलाशय के पुनरोद्धार के बाद 20वीं शताब्दी में यहां आधुनिक शहर बसा।
  • पोल्लन्नरूवा में एक रेलवे स्टेशन भी है। शहर में 12वीं शताब्दी के कई मंदिर और बौद्ध इमारतें हैं।
  • यहाँ का सबसे प्रमुख अवशेष 52 मीटर लंबी एक इमारत का है, जिसकी दीवारें 24 मीटर ऊंची और 3.5 मीटर मोटी हैं।
  • इस शहर के कई अन्य महत्त्वपूर्ण खंडहरों की खुदाई करके उन्हें संरक्षित किया जा रहा है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. भारत ज्ञानकोश, खण्ड-3 |लेखक: इंदु रामचंदानी |प्रकाशक: एंसाइक्लोपीडिया ब्रिटैनिका प्राइवेट लिमिटेड, नई दिल्ली और पॉप्युलर प्रकाशन, मुम्बई |संकलन: भारतकोश पुस्तकालय |पृष्ठ संख्या: 271 |

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=पोल्लन्नरूवा&oldid=500363" से लिया गया