पंचकर्पट  

पंचकर्पट महाभारत कालीन एक देश का नाम था। इसका उल्लेख महाभारत, सभापर्व में हुआ है। पाण्डव नकुल ने अपनी दिग्विजय यात्रा में इस देश पर विजय प्राप्त की थी, जो प्रसंगानुसार मालवा (मध्य प्रदेश) के सन्निकट स्थित जान पड़ता है।

'तान् दशाणनि स जित्वा च प्रतस्थे पांडुनंदन:, शिवीं स्त्रिगतनिम्बष्ठान् मालवान् पंचकर्पटान्'[1]
  • महाभारत, सभापर्व[2] में मध्यमिका पर नकुल की विजय का वर्णन है, जो चित्तौड़ के पास थी।
  • उपर्युक्त तथ्य के आधार पर पंचकर्पट की स्थिति मेवाड़ और मालवा के बीच के प्रदेश में जान पड़ती है।
  • मालवा जहाँ रावी और चिनाब नदी के संगम पर स्थित प्रदेश भी हो सकता है और इस दशा में पंचकर्पट को दक्षिणी पंजाब में स्थित मानना पड़ेगा।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=पंचकर्पट&oldid=280294" से लिया गया