महेन्द्र पर्वत  

महेन्द्र पर्वत श्राद्ध के लिए एक अति पवित्र स्थान, जहाँ देवराज इन्द्र गए थे। यह एक बिल्व वृक्ष के लिए प्रसिद्ध है, जिसके नीचे श्राद्ध करने से दिव्य दृष्टि प्राप्त होती है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. वायुपुराण 77,17-18

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=महेन्द्र_पर्वत&oldid=503979" से लिया गया