मनीराम मिश्र  

  • मनीराम मिश्र कन्नौज निवासी 'इच्छाराम मिश्र' के पुत्र थे।
  • इन्होंने संवत 1829 में 'छंद छप्पनी' और 'आनंद मंगल' नाम की दो पुस्तकें लिखीं।
  • 'आनंद मंगल' भागवत दशम स्कंध का पद्य में अनुवाद है।
  • 'छंद छप्पनी' छंद शास्त्र का बड़ा ही सुन्दर ग्रंथ है।



पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

सम्बंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मनीराम_मिश्र&oldid=226730" से लिया गया