कुंजर भारती  

कुंजर भारती (1810-1896 ई.) तमिल के विख्यात कवि थे।

  • ये सुब्रह्मण्यम भारती के पुत्र थे। शिवगंगा के राजा गौरीवल्लभ के सभास्थान विद्वान् थे।
  • उन्होंने कुंजर भारती को कवि कुंजर की उपाधि प्रदान की थी।
  • इनकी ख्याति मधुर पदावली और सुंदर कल्पना के लिए है।
  • स्कन्दपुराण कीर्तन, पेरिंब कीर्तनैगल और अझगर कुरवंजी इनकी विख्यात रचनाएँ हैं।
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=कुंजर_भारती&oldid=600500" से लिया गया