त्यागराज  

त्यागराज
त्यागराज
पूरा नाम त्यागराज
जन्म 4 मई, 1767
जन्म भूमि तंजावुर, तमिलनाडु
मृत्यु 6 जनवरी, 1847
अभिभावक 'रामब्रह्मम' तथा 'सीताम्मा'
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र भक्ति साहित्य
मुख्य रचनाएँ 'निधि चल सुखम', 'प्रह्लाद भक्ति विजय', 'नौका चरितम', 'पंचरत्न', 'दिव्यनाम कीर्तनम' आदि।
प्रसिद्धि संगीतज्ञ तथा कवि
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी त्यागराज ने मुत्तुस्वामी दीक्षित और श्यामाशास्त्री के साथ कर्नाटक संगीत को नयी दिशा दी। उनके योगदान को देखते हुए ही उन्हें 'त्रिमूर्ति' की संज्ञा से विभूषित किया गया है।

त्यागराज (अंग्रेज़ी: Tyagaraja ; जन्म- 4 मई, 1767, तंजावुर, तमिलनाडु; मृत्यु- 6 जनवरी, 1847) प्रसिद्ध संगीतज्ञ थे। वे 'कर्नाटक संगीत' के महान् ज्ञाता तथा भक्तिमार्ग के कवि थे। इन्होंने भगवान श्रीराम को समर्पित भक्ति गीतों की रचना की थी। उनके सर्वश्रेष्ठ गीत अक्सर धार्मिक आयोजनों में गाए जाते हैं। त्यागराज ने समाज एवं साहित्य के साथ-साथ कला को भी समृद्ध किया था। उनकी विद्वता उनकी हर कृति में झलकती है, हालांकि 'पंचरत्न' कृति को उनकी सर्वश्रेष्ठ रचना कहा जाता है। त्यागराज के जीवन का कोई भी पल श्रीराम से जुदा नहीं था। वह अपनी कृतियों में भगवान राम को मित्र, मालिक, पिता और सहायक बताते थे।

जन्म तथा परिचय

प्रसिद्ध संगीतज्ञ त्यागराज का जन्म 4 मई, 1767 ई. में तमिलनाडु के तंजावुर ज़िले में तिरूवरूर नामक स्थान पर हुआ था। उनकी माँ का नाम 'सीताम्मा' और पिता का नाम 'रामब्रह्मम' था। त्यागराज ने अपनी एक कृति में बताया है कि- "सीताम्मा मायाम्मा श्री रामुदु मा तंद्री" अर्थात् "सीता मेरी माँ और श्री राम मेरे पिता हैं"। इसके जरिए शायद वह दो बातें कहना चाहते थे। एक ओर वास्तविक माता-पिता के बारे मे बताते हैं दूसरी ओर प्रभु राम के प्रति अपनी आस्था प्रदर्शित करते हैं। त्यागराज एक अच्छे सुसंस्कृत परिवार में पैदा हुए थे। वे प्रकांड विद्वान् और कवि थे। वह संस्कृत, ज्योतिष तथा अपनी मातृभाषा तेलुगु ज्ञानी पुरुष थे।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=त्यागराज&oldid=627321" से लिया गया