कवींद्र  

कवींद्र
कवींद्र
पूरा नाम उदयनाथ (वास्तविक नाम)
जन्म 1680 ई. के आसपास
पालक माता-पिता कालिदास त्रिवेदी
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र काव्य लेखन
मुख्य रचनाएँ 'रस-चन्द्रोदय', 'विनोद चन्द्रिका' तथा 'जोगलीला'
प्रसिद्धि कवि
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी 'रस चन्द्रोदय' श्रृंगार रस का एक अच्छा ग्रंथ है। इसमें लक्षण दोहों में तथा उदाहरण कवित्त, सवैया छन्दों में दिये गये हैं।
इन्हें भी देखें कवि सूची, साहित्यकार सूची

कवींद्र (वास्तविक नाम- 'उदयनाथ', जन्म- 1680 ई. के आसपास) रीति काल के प्रसिद्ध कवि थे। ये कालिदास त्रिवेदी के पुत्र थे। इनका 'रस-चन्द्रोदय' नामक ग्रंथ बहुत प्रसिद्ध है। इसके अतिरिक्त 'विनोदचंद्रिका' और 'जोगलीला' नामक इनकी दो और पुस्तकों का भी ज्ञान है।

परिचय

कवींद्र बनपुरा के कालिदास त्रिवेदी के पुत्र थे। सन 1680 के आसपास इनका जन्म हुआ था। बहुत दिनों तक ये अमेठी के राजा हिम्मतसिंह तथा उनके पुत्र कवि तथा काव्यप्रेमी भूपति कवि (गुरूदत्त) के आश्रम में रहे। बूँदी, राजस्थान के राव बुद्ध सिंह तथा भगवंतराय खीची के यहाँ भी इनको काफ़ी सम्मान प्राप्त हुआ था।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 हिन्दी साहित्य कोश, भाग 2 |प्रकाशक: ज्ञानमण्डल लिमिटेड, वाराणसी |संकलन: भारतकोश पुस्तकालय |संपादन: डॉ. धीरेंद्र वर्मा |पृष्ठ संख्या: 78 |
  2. हिन्दी साहित्य का इतिहास, पृ. 170- 71
और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=कवींद्र&oldid=613169" से लिया गया