नितिन बोस  

नितिन बोस
नितिन बोस
पूरा नाम नितिन बोस
जन्म 26 अप्रैल, 1897
जन्म भूमि कलकत्ता (वर्तमान कोलकाता)
मृत्यु 14 अप्रैल, 1986
मृत्यु स्थान कोलकाता
अभिभावक पिता- हेमेन्द्र मोहन बोस, माता- मृणालिनी
पति/पत्नी शांति बोस
संतान दो पुत्रियाँ- रीना और नीता
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र फ़िल्म निर्देशक, लेखक
मुख्य फ़िल्में 'गंगा-जमुना', 'दीदार', 'डाकू मंसूर', 'चंडीदास', 'धूपछाँव', 'जीवन मरण', 'दुश्मन', 'धरतीमाता' और 'मुजरिम' आदि।
पुरस्कार-उपाधि 'दादा साहब फाल्के पुरस्कार' (1977)
विशेष योगदान हिन्दी फ़िल्मों में पार्श्वगायन को प्रारम्भ करने में नितिन बोस तथा पंकज मलिक का बहुत बड़ा हाथ था।
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी नितिन बोस की फ़िल्म 'गंगा-जमुना' का प्रसिद्ध गीत "इंसाफ की डगर पे, बच्चो दिखाओ चलके" एक ऐसा गीत था, जिसने नई पीढ़ी को उसके दायित्वों का अहसास कराया।

नितिन बोस (अंग्रेज़ी: Nitin Bose, जन्म- 26 अप्रैल, 1897, कलकत्ता; मृत्यु- 14 अप्रैल, 1986) भारतीय सिनेमा के प्रारंभिक समर्थकों में से एक, प्रसिद्ध फ़िल्म निर्देशक, छायाकार और लेखक थे। वे कलकत्ता (वर्तमान कोलकाता) के प्रसिद्ध 'न्यू थियेटर्स' के पीछे की ताकत थे। वर्ष 1935 में उनकी बंगाली फ़िल्म 'भाग्य चक्र' में उन्होंने फ़िल्मों का पार्श्वगायन से परिचय करवाया था। बाद में यह फ़िल्म हिन्दी में 'धूप छाँव' नाम से बनाई गई। नितिन बोस ने अपने सिने कैरियर में छह मूक फ़िल्मों सहित 50 से भी अधिक फ़िल्मों का निर्देशन और छायांकन किया। उन्हे के. एल. सहगल और उत्तम कुमार के कैरियर को शुरू करने का श्रेय दिया जाता है। बाद में नितिन जी मुंबई आ गये थे और यहाँ फ़िल्म निर्देशन किया। उनकी सर्वश्रेष्ठ फ़िल्मों में से एक 'गंगा जमुना' को हिन्दी सिनेमा की सबसे बड़ी फ़िल्मों में से एक माना जाता है। उनके विशिष्ट योगदान के लिए उन्हें वर्ष 1977 में 'दादा साहब फाल्के पुरस्कार' से सम्मानित किया गया था। नितिन बोस की फ़िल्म 'गंगा जमुना' का प्रसिद्ध गीत "इंसाफ की डगर पे, बच्चो दिखाओ चलके" ऐसा ही एक गीत था, जिसने नई पीढ़ी को उसके दायित्वों का अहसास कराया।

जन्म व पारिवारिक परिचय

भारतीय सिनेमा में स्टूडियो युग के महान् निर्देशक नितिन बोस का जन्म 26 अप्रैल, 1897 को कोलकाता में हुआ था। इनके पिता का नाम 'हेमेन्द्र मोहन बोस' तथा माता 'मृणालिनी' थीं। नितिन बोस की माताजी मशहूर लेखक उपेन्द्रकिशोर रायचौधरी की बहन थीं। उपेन्द्रकिशोर प्रसिद्ध कवि सुकुमार राय के पिता और ख्याति प्राप्त फ़िल्म निर्माता-निर्देशक सत्यजीत राय के दादा थे। नितिन बोस के भाई मुकुल बोस का भी फ़िल्मी दुनिया से बहुत गहरा रिश्ता रहा, वे साउंड रिकॉर्डिस्ट के रूप में मशहूर थे। नितिन बोस का विवाह शांति बोस से हुआ था। वे दो पुत्रियों रीना और नीता के पिता भी बने।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 विचार और भावना की कॉकलेट के उस्ताद (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 14 जनवरी, 2013।
  2. 1936 की फ़िल्में (हिन्दी)। । अभिगमन तिथि: 14 जनवरी, 2013।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=नितिन_बोस&oldid=626637" से लिया गया