मनमोहन महापात्र  

मनमोहन महापात्र
मनमोहन महापात्र
पूरा नाम मनमोहन महापात्र
जन्म 10 नवंबर, 1951
जन्म भूमि उड़ीसा
मृत्यु 13 जनवरी, 2020
मृत्यु स्थान भुवनेश्वर
कर्म भूमि भारत
कर्म-क्षेत्र उड़िया सिनेमा
मुख्य फ़िल्में 'सीता रति', 'मझि पाछा', 'निसिधा स्वप्ना', 'क्लांता अपर्णा', 'निरबा झाड़ा', 'भीना समाया' आदि।
विद्यालय फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया, पुणे
प्रसिद्धि फ़िल्म निर्माता-निर्देशक
नागरिकता भारतीय
अन्य जानकारी मनमोहन महापात्र ने 'वॉयस ऑफ साइलेंस' और 'कोणार्क: द सन टेम्पल' नामक वृत्तचित्रों का निर्देशन भी किया था।
मनमोहन महापात्र (अंग्रेज़ी: Manmohan Mahapatra, जन्म- 10 नवंबर, 1951; उड़ीसा; मृत्यु- 13 जनवरी, 2020, भुवनेश्वर) उड़िया फ़िल्मों के प्रसिद्ध फ़िल्म निर्माता-निर्देशक थे। उड़िया सिनेमा को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर पहुंचाने में उनका योगदान अतुलनीय है। 30वें 'राज्य चलचित्र पुरस्कार' में मनमोहन महापात्र को उनकी फिल्म 'भिजा माटी र स्वर्ग' के लिए श्रेष्ठ निदेशक सम्मान से सम्मानित किया गया था।

परिचय

मनमोहन महापात्र का जन्म 10 नवंबर, 1951 को हुआ था। उन्होंने पुणे में फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में फिल्म निर्माण का अध्ययन किया। सन 1975 में मनमोहन महापात्र ने अपनी पहली लघु फिल्म 'एंटी-मेमोरियर्स' बनाई। 1976 में उनकी पहली फिल्म 'सीता रति' ने उन्हें ओडिया में सर्वश्रेष्ठ फीचर फिल्म के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता। मनमोहन महापात्र ने बिट्स और मोहरे सहित कुछ हिंदी फिल्मों का निर्देशन भी किया। अनुभवी फिल्म निर्माता मनमोहन महापात्र ने 'वॉयस ऑफ साइलेंस' और 'कोणार्क: द सन टेम्पल' नामक वृत्तचित्रों का निर्देशन भी किया।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मनमोहन_महापात्र&oldid=652990" से लिया गया
<