मिर्ज़ा ग़ियासबेग  

(मिर्ज़ा गियासबेग़ से पुनर्निर्देशित)


  • मिर्ज़ा ग़ियासबेग ईरान से आया था और अकबर का एक प्रमुख दरबारी था।
  • वह प्रसिद्ध नूरजहाँ का पिता था, जिससे बादशाह जहाँगीर ने 1611 ई. में विवाह किया था।
  • ग़ियासबेग तथा उसके बेटे आसफ़ ख़ाँ को जहाँगीर ने अपने दरबार में बड़े ऊँचे पद प्रदान किये थे।
  • ग़ियासबेग की मृत्यु 1622 ई. में हुई और उसकी प्यारी बेटी मलका नूरजहाँ ने उसकी क़ब्र पर सफ़ेद संगमरमर का सुन्दर मक़बरा बनवाया।
  • ग़ियासबेग के मक़बरे को 'एतमादुद्दौला का मक़बरा' के नाम से भी जाना जाता है।
  • मुग़ल इमारतों में उसके जोड़ की कोई दूसरी इमारत नहीं है।
  • जेम्स फ़र्गुसन के अनुसार-"अपनी नफ़ासत और महीन पच्चीकारी में यह इमारत अपने आप में एक बेहतर नमूना है।"
  • बादशाह जहाँगीर द्वारा गद्दी पर बैठने के बाद मिर्ज़ा ग़ियासबेग को 'एतमादुद्दौला' की उपाधि प्रदान की गई थी।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मिर्ज़ा_ग़ियासबेग&oldid=247417" से लिया गया