ईसा ख़ाँ  

ईसा ख़ाँ उन बारह भूमिपतियों (ज़मींदारों) में से एक था, जो सोलहवीं शताब्दी के अन्तिम चौथाई भाग में पूर्वी बंगाल का नियंत्रण करते थे। बादशाह अकबर की फ़ौजों के आक्रमण के समय ईसा ख़ाँ ने मुग़ल फ़ौजों का डटकर सामना किया था।

  • पूर्वी तथा मध्यवर्ती ढाका ज़िले की ज़मींदारी ईसा ख़ाँ के पास थी।
  • मैमनसिंह ज़िले का अधिकांश भाग भी ईसा ख़ाँ के कब्ज़े में ही था।
  • ईसा ख़ाँ ने अपने पड़ोसी हिन्दू भूमिपति, विक्रमपुर के केदार राय के सहयोग से कुछ समय तक बारशाह अकबर की फ़ौजों से मुकाबला किया था।
  • अंतिम दिनों में केदार राय और ईसा ख़ाँ में मनमुटाव हो गया और ईसा ख़ाँ को मुग़ल बादशाह ने अपदस्थ कर दिया।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=ईसा_ख़ाँ&oldid=507915" से लिया गया