शतयूप  

शतयूप हिन्दू मान्यताओं और पौराणिक महाकाव्य महाभारत के उल्लेखानुसार कैकय देश के एक धीमान राजर्षि थे, जो पुत्र को राज्य देकर कुरुक्षेत्र के वन में तपस्या करने गये थे। शतयूप के आश्रम में ही धृतराष्ट्र आदि टिके थे। इन्होंने धृतराष्ट्र को वनवास की विधि बतलायी थी। ये राजा सहस्त्राचित्य के पौत्र थे।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=शतयूप&oldid=549610" से लिया गया