मुरली मनोहर जोशी  

मुरली मनोहर जोशी
मुरली मनोहर जोशी
पूरा नाम मुरली मनोहर जोशी
जन्म 5 जनवरी, 1934
जन्म भूमि दिल्ली, भारत
अभिभावक पिता- मनमोहन जोशी, माता- चन्द्रावती जोशी
पति/पत्नी तारला जोशी
संतान दो पुत्री- प्रियामावड़ा जोशी एंव नेविदता जोशी
नागरिकता भारतीय
प्रसिद्धि राजनीतिज्ञ
पार्टी भारतीय जनता पार्टी
पद भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष,
कार्य काल मानव संसाधन विकास मंत्री - 1998 से 2004

विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री - 19 मई 199922 मई 2004
गृह मंत्री - 16 मई 19961 जून 1996
राष्ट्रीय अध्यक्ष - 1991 से 1993

शिक्षा एम.एस.सी (भौतिक)
विद्यालय इलाहाबाद विश्वविद्यालय
बाहरी कड़ियाँ सन 1996 में जब भारतीय जनता पार्टी की सरकार 13 दिनों के लिए बनी थी, तब मुरली मनोहर जोशी ने देश के गृहमंत्री की जिम्मेदारी संभाली और 13 दिनों के लिए वह गृहमंत्री रहे।
अद्यतन‎
मुरली मनोहर जोशी (अंग्रेज़ी: Murli Manohar Joshi, जन्म- 5 जनवरी, 1934, दिल्ली) भारतीय राजनीतिज्ञ हैं, जो भारतीय जनता पार्टी के एक वरिष्ठ नेता हैं। वह 1991 से 1993 तक भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी रह चुके हैं। वह राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन सरकार में केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री भी नियुक्त किये गए थे। मुरली मनोहर जोशी को 'पद्म विभूषण' और दूसरा सर्वोच्च नागरिक पुरस्कार भी मिल चुका है। इन्हेंं ज्यादातर लोग इनकी हिंदू सामाजिक राजनीति और अभिन्न मानवता की नीतियों और सोच के लिए जानते हैं। मुरली मनोहर जोशी छठी, ग्यारहवीं, बारहवीं, तेरहवीं, पंद्रहवीं और सोलहवीं लोकसभा के सदस्य रह चुके हैं।

प्रारम्भिक जीवन

मुरली मनोहर जोशी का जन्म 5 जनवरी, 1934 को दिल्ली में हुआ था। उनका पैतृक गाँव उत्तराखंड के कुमायूँ क्षेत्र में है। जोशी जी के पिता का नाम मनमोहन जोशी एंव माता का नाम चन्द्रावती जोशी था। मुरली मनोहर जोशी का विवाह 13 दिसंबर 1966 को तारला जोशी से हुआ। इनकी दो बेटियां- प्रियामावड़ा जोशी एंव नेविदता जोशी है।

शिक्षा

मुरली मनोहर जोशी ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा अल्मोड़ा, उत्तराखंड से की। स्नातक की पढ़ाई के लिये वे मेरठ कालेज गये और वहां से स्नातक की डिग्री हासिल की। आगे की पढ़ाई के लिये जोशी जी इलाहाबाद चले गए और इलाहाबाद विश्वविद्यालय से परस्नातक में एम.एस.सी (भौतिक) की डिग्री हासिल की। इलाहाबाद विश्वविद्यालय से ही आगे अपने अध्ययन को बढ़ाते हुये डॉक्टरेट की उपाधि हासिल क्वी। उनका शोध का विषय स्पेक्ट्रोस्कोपी था और उन्होंने हिन्दी भाषा में अपना शोध पत्र प्रस्तुत किया। वह हिंदी भाषा में प्रस्तुत करने वाले प्रथम शोध छात्र थे।

1958 में इलाहाबाद विश्वविद्याल्य से डी.फिल. की उपाधि ग्रहण की। इलाहाबाद विश्वविद्याल्य में प्रवक्ता बनकर अध्यापन के क्षेत्र में उतरे। 1994 में प्राध्यापक और विभागाध्यक्ष (भौतिक विज्ञान) पद से सेवानिवृत हुए। 1944 से ही राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के सक्रिय कार्यकर्ता रहे। 1949 से अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. मुरली मनोहर जोशी (हिंदी) umjb.in। अभिगमन तिथि: 15 फरवरी, 2020।
  2. मुरली मनोहर जोशी की जीवनी (हिंदी) hindipro.com। अभिगमन तिथि: 15 फरवरी, 2020।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

पंद्रहवीं लोकसभा सांसद

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=मुरली_मनोहर_जोशी&oldid=641006" से लिया गया