पी. एम. सईद  

पी. एम. सईद

पी. एम. सईद (अंग्रेज़ी: Padanatha Mohammed Sayeed, जन्म- 10 मई, 1941; मृत्यु- 18 दिसंबर, 2005) भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनीतिज्ञ थे। वह काफी लम्बे समय तक (दस बार, 1967 से 2004) लोकसभा के सदस्य रहे। पी. एम. सईद 17 दिसंबर, 1998 से 6 फ़रवरी, 2004 तक लोकसभा अध्यक्ष भी रहे।

जन्म

पी. एम. सईद का जन्म 10 मई, 1941 को हुआ था। उन्होंने कर्नाटक में मैंगलोर के गवर्नमेंट आर्ट कॉलेज से बी.कॉम. और मुंबई के सिद्धार्थ कॉलेज ऑफ़ लॉ से क़ानून की पढ़ाई की।

राजनीति

वह 1967 में केवल 26 वर्ष की आयु में पहली बार लोकसभा के लिए निर्वाचित हुए। पहली बार उन्होंने स्वतंत्र उम्मीदवार के तौर पर जीत पाई थी। इसके बाद से वे कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ते रहे। 1999 में वे लोकसभा के लिए 10वीं बार चुनकर आए। 13वीं लोकसभा में पी. एम. सईद सदन के उपाध्यक्ष बनाए गए थे। लेकिन 2004 के चुनाव में उन्हें हार का मुँह देखना पड़ा।[1]

वरिष्ठ सांसद पी. एम. सईद लक्षद्वीप की सुरक्षित लोकसभा सीट से 10 बार जीतकर लोकसभा पहुँचे थे, जो एक कीर्तिमान है। जब वह लोकसभा चुनाव हार गए थे, उसके बावजूद भी मनमोहन सिंह ने अपनी मंत्रिपरिषद में उनको स्थान दिया। मनमोहन सिंह सरकार में पी. एम. सईद, शिवराज पाटिल के अतिरिक्त दूसरे ऐसे मंत्री थे, जिनको लोकसभा चुनाव में हारने के बावजूद मंत्री बनाया गया था। भारत में सत्ताधारी राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की सरकार में पी. एम. सईद ऐसे दूसरे मंत्री रहे, जिनका पद पर रहते हुए निधन हो गया।

पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. ऊर्जा मंत्री पी एम सईद का निधन (हिंदी) bbc.com। अभिगमन तिथि: 15 अप्रॅल, 2020।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=पी._एम._सईद&oldid=644704" से लिया गया