राम निवास मिर्धा  

राम निवास मिर्धा

राम निवास मिर्धा (अंग्रेज़ी: Ram Niwas Mirdha, जन्म- 24 अगस्त, 1924; मृत्यु- 29 जनवरी, 2010) भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के राजनीतिज्ञ थे। वह 30 मार्च, 1977 से 4 अप्रॅल, 1980 तक राज्य सभा के उपसभापति रहे।

  • राम निवास मिर्धा का जन्म मूल रूप से नागौर जिले के कुचेरा गांव निवासी जाने-माने किसान नेता बलदेव राम मिर्धा के घर 24 अगस्त, 1924 को बाड़मेर के जसोल गांव में हुआ था। पिता बलदेव राम वहाँ पुलिस अधिकारी थे
  • राम निवास मिर्धा ने इलाहाबाद विश्वविद्यालय, लखनऊ विश्वविद्यालय और जिनेवा-स्विट्जरलैंड के ग्रेजुएट इंस्टीट्यूट ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज में एम.ए. व एल.एल.बी. की उच्च शिक्षा हासिल की थी।
  • उन्होंने अपना कैरियर राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारी के रूप में शुरू किया, किन्तु जल्द ही इस्तीफा देकर सक्रिय राजनीति में आ गए।
  • वह 1953 से 1967 तक राजस्थान विधान सभा में विधायक और 1957 से 1967 तक विधानसभा अध्यक्ष भी रहे।
  • सन 1970 और 1980 के दशक में राम निवास मिर्धा भारत सरकार में विभिन्न विभागों के केन्द्रीय मंत्री रहे।
  • राम निवास मिर्धा विलक्षण प्रतिभा व व्यक्तित्व के धनी थे। उनकी गिनती सिद्धांतवादी राजनीतिज्ञों, चिंतकों, दार्शनिकों के रूप में होती है।
  • एक किसान परिवार में जन्म लेने के बाद ईमानदारी व कर्मठता के दम पर उन्होंने संयुक्त राष्ट्र संघ तक अपने बौद्धिक, राजनीतिक व प्रशासनिक कौशल का लोहा मनवाया।
  • उनकी सबसे बड़ी उपलब्धि ये मानी जाती है कि अनेकानेक उच्च पदों पर रहते हुए भी वे सौम्य व शांत स्वभाव के बने रहे और उनका पूरा जीवन निष्कलंक रहा।
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=राम_निवास_मिर्धा&oldid=644782" से लिया गया