वी. एस. रमादेवी  

वी. एस. रमादेवी

वी. एस. रमादेवी (अंग्रेज़ी: V. S. Ramadevi, जन्म- 15 जनवरी, 1934; मृत्यु- 17 अप्रॅल, 2013) भारत की ऐसी प्रथम महिला थीं, जिन्होंने मुख्य चुनाव आयुक्त का पदभार सम्भाला। वह 26 नवंबर, 1990 से 11 दिसंबर, 1990 तक मुख्य चुनाव आयुक्त रहीं। उन्होंने राज्य सभा के महासचिव का पद भी सम्भाला। वह 1 जुलाई, 1993 से 25 जुलाई, 1997 तक राज्य सभा महासचिव रहीं।

  • वी. एस. रमादेवी का जन्म 15 जनवरी, 1934 को आंध्र प्रदेश में हुआ था।
  • उनका जन्म पोंगल (एक त्यौहार) वाले दिन हुआ।
  • उन्होंने अपनी प्रारंभिक शिक्षा एलूरू से प्राप्त की। बाद में उन्होंने आंध्र प्रदेश उच्च न्यायालय से एम.ए और एल.एल.बी की डिग्री प्राप्त की।
  • वह 26 जुलाई, 1997 से 1 दिसम्बर, 1999 तक हिमाचल प्रदेश की राज्यपाल भी रहीं।
  • वी. एस. रमादेवी 2 दिसम्बर, 1999 से 20 अगस्त, 2002 तक कर्नाटक की राज्यपाल रहीं।
  • वह देश की प्रथम और एकमात्र महिला थीं, जिन्होंने भारत के मुख्य चुनाव आयुक्त का पदभार सम्भाला।
  • वी. एस. रमादेवी ने मुख्य चुनाव आयुक्त के रूप में आर. वी. एस. पेरिशास्त्री (1 जनवरी, 1986-25 नवंबर, 1990) का स्थान लिया था। उनके बाद टी. एन. शेषन देश के मुख्य चुनाव आयुक्त बने थे।
  • वी. एस. रमादेवी के परिवार में एक बेटा वी.एस. राकेश और दो बेटियां- वी.ए. रेखा एवं वी.ए. राधिका चौधरी हैं।
  • पहली मुख्य चुनाव आयुक्त रहीं वी. एस. रमादेवी का 17 अप्रैल, 2013 को दिल का दौरा पड़ने से 79 वर्ष की आयु में निधन हो गया।
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=वी._एस._रमादेवी&oldid=644916" से लिया गया