लिम्बा राम  

लिम्बा राम
लिम्बा राम
पूरा नाम लिम्बा राम
जन्म 24 सितम्बर, 1971
जन्म भूमि सरादित गांव, उदयपुर, राजस्थान
कर्म भूमि भारत
खेल-क्षेत्र तीरंदाज़ी
पुरस्कार-उपाधि ‘महाराणा प्रताप अवार्ड’ (1990), 'अर्जुन पुरस्कार' (1991)
नागरिकता भारतीय
ऊँचाई 1.57 मीटर (5 फुट 2 इंच)
वज़न 58 कि.ग्रा.
अन्य जानकारी लिम्बा राम को तीरंदाज़ी की कला में निपुणता दिलाने का श्रेय स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया को है, जिसने ‘स्पेशल एरिया मेमन प्रोग्राम’ के अन्तर्गत उन्हें प्रशिक्षण दिलवाया था।

लिम्बा राम (अंग्रेज़ी: Limba Ram, जन्म- 24 सितम्बर, 1971, उदयपुर, राजस्थान) भारत के प्रथम प्रसिद्ध तीरंदाज़ हैं, जिन्होंने विश्व स्तर पर तीरंदाज़ी के क्षेत्र में सफलता प्राप्त की। उन्होंने 1992 के एशियाई चैंपियनशिप मुक़ाबले में विश्व रिकार्ड बनाते हुए स्वर्ण पदक जीता था। वर्ष 1992 के बार्सिलोना ओलंपिक में लिम्बा राम मात्र एक अंक से पदक पाने से चूक गए थे। उन्हें 1991 में भारत के प्रतिष्ठित ‘अर्जुन पुरस्कार’ से सम्मानित किया गया था।

परिचय

लिम्बा राम का जन्म 24 सितम्बर, सन 1971 को राजस्थान में उदयपुर ज़िले के सरादित गांव में हुआ था। वे बचपन में उदयपुर के जंगलों में शिकार किया करते थे। उनको तीरंदाजी की कला में निपुणता दिलाने का श्रेय स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया को है, जिसने ‘स्पेशल एरिया मेमन प्रोग्राम’ के अन्तर्गत उन्हें प्रशिक्षण दिलवाया था।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 लिम्बाराम का जीवन परिचय (हिंदी) कैसे और क्या। अभिगमन तिथि: 27 अगस्त, 2016।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=लिम्बा_राम&oldid=611213" से लिया गया