वरुण भाटी  

वरुण भाटी
वरुण भाटी
पूरा नाम वरुण भाटी
जन्म 13 फ़रवरी, 1995
अभिभावक पिता- हेम सिंह
कर्म भूमि भारत
खेल-क्षेत्र ऊँची कूद (हाई जंप)
शिक्षा बीएससी
विद्यालय सेंट जोसफ़ स्कूल, ग्रेटर नोएडा; दिल्ली विश्वविद्यालय
नागरिकता भारतीय
कोच मनीष तिवारी
अन्य जानकारी वरुण राज्य स्तर तक बास्केटबॉल खेल चुके हैं। पोलियो के कारण राज्य स्तर से आगे उनका चुनाव नहीं हो पाया। उनकी बहन कृति पावर लिफ्टिंग में राज्य स्तर पर स्वर्ण और भाई प्रवीण फ़ुटबॉल और ऊँची कूद में राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी हैं।

वरुण भाटी (अंग्रेज़ी: Varun Bhati, जन्म- 13 फ़रवरी, 1995) भारत के ऊँची कूद के खिलाड़ी हैं। ब्राजील के रियो डी जनेरियो में पैरालंपिक खेलों में पुरुषों के ऊँची कूद मुकाबले में वरुण भाटी ने कांस्य पदक जीता है, जबकि भारत के ही मरियप्पन थंगावेलु ने इस प्रतियोगिता का स्वर्ण पदक जीता। मरियप्पन थंगावेलु ने 1.89 मी. की जंप लगाते हुए सोना जीता, जबकि भाटी ने 1.86 मी. की जंप लगाते हुए कांस्य पदक अपने नाम किया।

परिचय

वरुण भाटी का जन्म 13 फ़रवरी, 1995 को हुआ था। वे ग्रेटर नोएडा स्‍थित जलालपुर के निवासी हैं। यहां के सेंट जोसफ़ स्कूल से प्रारंभिक शिक्षा ली है। उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय से बीएससी की पढ़ाई पूरी की है। वरुण राज्य स्तर तक बास्केटबॉल खेल चुके हैं। पोलियो के कारण राज्य स्तर से आगे उनका चुनाव नहीं हो पाया। उनकी बहन कृति पावर लिफ्टिंग में राज्य स्तर पर स्वर्ण और भाई प्रवीण फ़ुटबॉल और ऊँची कूद में राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी हैं। उनके पिता हेम सिंह शहर में स्थित बहुराष्ट्रीय कार फैक्ट्री में मैन्यूफेक्चरर एसोसिएट के पद पर कार्यरत हैं।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. कॅरियर के शुरुआत में ये खिलाड़ी हुआ था रिजेक्ट, एक जिद से लाइफ हुई चेंज (हिंदी) दैनिक भास्कर। अभिगमन तिथि: 11 सितम्बर, 2016।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=वरुण_भाटी&oldid=619544" से लिया गया