जिम्मी जॉर्ज  

जिम्मी जॉर्ज
जिम्मी जॉर्ज
पूरा नाम जिम्मी जॉर्ज
जन्म 8 मार्च, 1955
जन्म भूमि पेराबूर, कन्नूर ज़िला, केरल
मृत्यु 30 नवम्बर 1987
मृत्यु स्थान इटली
अभिभावक पिता- जॉर्ज जोसेफ, माता- मेरी जॉर्ज
संतान जोसेफ जॉर्ज
खेल-क्षेत्र वॉलीबॉल
विद्यालय सेंट थॉमस कॉलेज, पलाई; देवगिरि कॉलेज, कालीकट
पुरस्कार-उपाधि 'अर्जुन पुरस्कार' (1976, 'जी.वी. राजा सम्मान' (1975), 'मनोरमा अवॉर्ड' (1976) आदि।
नागरिकता भारतीय
कोच कलावूर गोपीनाथ
अन्य जानकारी जब वह मात्र 16 वर्ष के थे, तब उन्हें 1971 में जमशेदपुर में होने वाली राष्ट्रीय चैंपियनशिप के लिए राज्य की ओर से खेलने के लिए चुन लिया गया।
अद्यतन‎

जिम्मी जॉर्ज (अंग्रेज़ी: Jimmy George, जन्म- 8 मार्च 1955, पेराबूर, केरल; मृत्यु- 30 नवम्बर, 1987, इटली) का भारत ही नहीं बल्कि विश्व के दस सर्वश्रेष्ठ वॉलीबॉल खिलाड़ियों में नाम लिया जाता है। वह भारत के प्रथम वॉलीबॉल खिलाड़ी रहे जिन्होंने इसे ‘प्रोफेशनल’ तौर पर अपनाया और यूरोप के एक प्रोफेशनल क्लब के लिए खेला। उन्हें केरल सरकार ने 1975 में सी.वी. राजा अवार्ड प्रदान किया। भारत सरकार ने 1976 में उन्हें ‘अर्जुन पुरस्कार’ से सम्मानित किया।

जीवन परिचय

केरल में जन्मे वॉलीबॉल खिलाड़ी जिम्मी जॉर्ज ने बहुत कम उम्र में ही सफलता प्राप्त की और अपना नाम देश के सर्वश्रेष्ठ ऐतिहासिक खिलाड़ियों में दर्ज करा लिया। वह बहुत छोटा जीवन जी सके।

जिम्मी जार्ज का जन्म केरल के कन्नूर ज़िले के पेराबूर नामक स्थान पर हुआ था। उनके पिता का नाम 'जॉर्ज जोसेफ' तथा माँ का नाम 'मेरी जॉर्ज' था। उन्हें वॉलीबॉल की प्रारम्भिक शिक्षा उनके पिता ने दी। उन्हीं के साथ उनके अन्य भाइयों जोस जॉर्ज, सिबेस्टियन तथा फ्रांसिस बिजू जार्ज को भी उनके पिता ने वॉलीबॉल की शिक्षा दी। उनके पिता अपने समय में विश्वविद्यालय स्तर के खिलाड़ी थे।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 1.2 1.3 जिम्मी जॉर्ज का जीवन परिचय (हिंदी) कैसे और क्या। अभिगमन तिथि: 27 सितम्बर, 2016।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=जिम्मी_जॉर्ज&oldid=595842" से लिया गया