सुनील गावस्कर  

सुनील गावस्कर
Sunil gavaskar 22.jpg
व्यक्तिगत परिचय
पूरा नाम सुनील मनोहर गावस्कर
अन्य नाम सनी
जन्म 10 जुलाई, 1949
जन्म भूमि मुंबई (महाराष्ट्र)
ऊँचाई 5 फुट 5 इंच
पत्नी मार्शनील
संतान पुत्र- रोहन गावस्कर
खेल परिचय
बल्लेबाज़ी शैली दाएँ हाथ
टीम भारत, मुंबई और समरसेट
भूमिका बल्लेबाज
पहला टेस्ट 6 मार्च, 1971 (वेस्टइंडीज के विरुद्ध)
आख़िरी टेस्ट 13 मार्च, 1987 (पाकिस्तान के विरुद्ध)
पहला वनडे 13 जुलाई, 1974 (इंग्लैंड के विरुद्ध)
आख़िरी वनडे 5 नवंबर, 1987 (इंग्लैंड के विरुद्ध)[1]
कैरियर आँकड़े
प्रारूप टेस्ट क्रिकेट एकदिवसीय अन्तर्राष्ट्रीय प्रथम श्रेणी
मुक़ाबले 125 108 348
बनाये गये रन 10,122 3,092 25,834
बल्लेबाज़ी औसत 51.12 35.13 51.46
100/50 34/45 1/27 81/105
सर्वोच्च स्कोर 236* 103* 340
फेंकी गई गेंदें 380 20 1987
विकेट 1 1 22
गेंदबाज़ी औसत 206.00 25.00 56.36
पारी में 5 विकेट 0 0 0
मुक़ाबले में 10 विकेट 0 0 0
सर्वोच्च गेंदबाज़ी 1/34 1/10 3/43
कैच/स्टम्पिंग 108 22 293
रचनाएँ 'सनी डेज', 'आइडल्स', 'रंस एण्ड रूइंस' तथा 'वन डे वंडर्स'
सम्मान अर्जुन पुरस्कार, पद्म भूषण के अतिरिक्त 1980 में ही वे 'विस्डेन पुरस्कार' से भी सम्मानित हो चुके हैं।
अन्य जानकारी सुनील गावस्कर विश्व क्रिकेट में 10,000 रन और 30 शतक करने वाले पहले बल्लेबाज़ थे।
बाहरी कड़ियाँ espncricinfo
अद्यतन

सुनील गावस्कर (अंग्रेज़ी: Sunil Gavaskar, जन्म- 10 जुलाई, 1949, मुम्बई, महाराष्ट्र) भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान हैं, जिन्हें क्रिकेट के महानतम बल्लेबाजों में शुमार किया जाता है। 'लिटिल मास्टर' के नाम से प्रसिद्ध सुनील गवास्कर विश्व के दिग्गज बल्लेबाजों में से एक हैं। परिवारिक तौर पर इनका पूरा नाम सुनील मनोहर गावस्कर है, जो कि इनके पिता के नाम को भी समाहित किये हुए है। ये सिर्फ एकमात्र ऐसे बल्लेबाज हैं, जिन्होंने एक सिंगल वर्ष में एक हज़ार से ज्यादा रन बनाए हैं और यह जादू उन्होंने चार-चार बार करके दिखाया है। सुनील गावस्कर ने अपने समय में कई सारे रिकॉर्ड बनाए एवं पुराने रिकॉर्ड को तोड़े। 34 शतक लगाकर उन्होंने सर डॉन ब्रैडमैन के रिकॉर्ड को तोड़ा था। इसके अलावा आप दस हज़ार से ज्यादा रन बनाने वाले एकमात्र खिलाड़ी थे।

परिचय

सुनील गावास्कर का जन्म 10 जुलाई, 1949 को मुम्बई, महाराष्ट्र में हुआ था। उनका पूरा नाम सुनील मनोहर गावस्कर है। 'सनी' और 'लिटिल मास्टर' उनके निक नेम हैं। उनके पिता का नाम मनोहर गावस्कर तथा माता का नाम मीनल गावस्कर था। सुनील गावास्कर का विवाह मार्शनील के साथ हुआ। उनके पुत्र का नाम रोहन गावस्कर है। सुनील गावस्कर क्रिकेट में दाएँ हाथ के श्रेष्ठ बल्लेबाज रहे, इसके साथ ही वह दाएँ हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज भी रहे।

जन्म प्रसंग

सुनील गावस्कर अपने जन्म के बाद जब अस्पताल में ही थे, तब उनके साथ एक ऐसा किस्सा हुआ जो उनकी जिंदगी पूरी तरह बदल सकता था। सुनील गावस्कर ने अपनी ऑटोबायोग्राफी 'सनी डेज' में बताया कि मैं कभी क्रिकेटर नहीं बना होता और न ही यह किताब लिखी गई होती, अगर मेरी जिंदगी में तेज नजरों वाले नारायण मासुरकर नहीं होते। गावस्कर ने बताया था कि जब उनका जन्म हुआ, तब उनके चाचा जिन्हें वह नन-काका कहकर बुलाते थे, वह गावस्कर के जन्म के बाद अस्पताल में उन्हें देखने आए थे और उन्होंने मेरे कान पर एक बर्थमार्क (जन्म के वक्त शरीर पर होने वाला निशान) देखा था। उन्होंने आगे बताया कि अगले दिन चाचा फिर मिलने अस्पताल आए और उन्होंने बच्चे को गोद में उठाया, लेकिन उन्हें बच्चे के कान पर वह निशान नहीं मिला। इसके बाद पूरे अस्पताल में नए जन्में बच्चों को चेक किया गया, जिसके बाद गावस्कर एक मछुआरे की पत्नी के पास सोते हुए मिले। अस्पताल की नर्स ने गलती से उन्हें वहाँ सुला दिया था। सुनील गावस्कर का कहना था कि शायद बच्चों को नहलाते समय वह बदल गए थे। अगर उस दिन गावस्कर के चाचा ने ध्यान नहीं दिया होता तो हो सकता है कि गावस्कर आज मछुआरे होते।[2]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. Sunil Gavaskar (अंग्रेज़ी) (एच.टी.एम.एल) espncricinfo। अभिगमन तिथि: 21 जनवरी, 2011।
  2. अस्पताल में बदल गए थे गावस्कर, कान के निशान से हुई पहचान (हिन्दी) aajtak.intoday.in। अभिगमन तिथि: 29 सितम्बर, 2017।

संबंधित लेख

और पढ़ें
"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=सुनील_गावस्कर&oldid=632583" से लिया गया