प्रभाजी आसवन  

व्यवस्थापन (वार्ता | योगदान) द्वारा परिवर्तित 18:57, 1 अगस्त 2017 का अवतरण (Text replacement - "पृथक " to "पृथक् ")

(अंतर) ← पुराना अवतरण | वर्तमान अवतरण (अंतर) | नया अवतरण → (अंतर)

प्रभाजी आसवन (अंग्रेज़ी:Fractional Distillation) विभिन्न क्वथनांक वाले मिश्रित द्रवों को भिन्न-भिन्न तापों पर आसुत करके उन्हें पृथक् करने की प्रकिया को प्रभाजी आसवन कहते है।

शीर्षक

प्रभाजी आसवन विधि

प्रभाजी आसवन विधि के द्वारा उन मिश्रित द्रवों का पृथक्कन किया जाता है, जिनके क्वथनाकों में बहुत कम का अंतर होता है। दूसरे शब्दों में द्रवों के क्वथनांक एक-दूसरे के समीप होते हैं। भूगर्भ से निकाले गये खनिज तेल से शुद्ध पेट्रोल, डीज़ल, मिट्टी का तेल आदि इसी विधि द्वारा पृथक् किया जाता है। जलीय वायु से विभिन्न गैसें भी इसी विधि द्वारा पृथक्‌ किये जाते हैं।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

{{संदर्भ ग्रंथ}==टीका टिप्पणी और संदर्भ==

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=प्रभाजी_आसवन&oldid=604678" से लिया गया