ऊटी  

ऊटी
बॉटनिकल गार्डन, ऊटी
विवरण ऊटी, तमिलनाडु राज्य, दक्षिण-पूर्वी भारत में स्थित है। ऊटी का पुराना नाम 'उटकमंड' और 'उदगमंडलम' था।
राज्य तमिलनाडु
ज़िला नीलगिरि
स्थापना सन् 1821
भौगोलिक स्थिति उत्तर- 11° 24' 42.63", पूर्व- 76° 41' 45.24"
मार्ग स्थिति ऊटी मैसूर से लगभग 126 किमी. और महाबलीपुरम से लगभग 520 किमी. की दूरी पर स्थित है।
तापमान गर्मी- 10°C - 25°C, सर्दी- 5°C -21°C
प्रसिद्धि नैसर्गिक सौंदर्य, धुंध से ढकी पहाड़ों की चोटियाँ और ओस से भीगी पेड़ों की पत्तियाँ
कब जाएँ अप्रैल-जून, सितंबर-नवंबर
कैसे पहुँचें जलयान, हवाई जहाज़, रेल, बस आदि
हवाई अड्डा कोयंबतुर अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे
रेलवे स्टेशन कोयंबतुर रेलवे स्टेशन
यातायात साइकिल-रिक्शा, ऑटो-रिक्शा, टैक्सी, सिटी बस
क्या देखें बॉटनिकल गार्डन, रोज़ गार्डन, ऊटी झील, डोड्डाबेट्टा
कहाँ ठहरें होटल, धर्मशाला, अतिथि ग्रह
क्या खायें ऊटी चाय, हाथ से बनी चॉकलेट, खुशबूदार तेल और मसालों के लिए प्रसिद्ध है।
क्या ख़रीदें नीलगिरि की मशहूर चाय, ऊनी वस्‍त्र और नर्सरी पलांटस।
एस.टी.डी. कोड 0423
ए.टी.एम लगभग सभी
Map-icon.gif गूगल मानचित्र
संबंधित लेख महाबलीपुरम, कन्याकुमारी, चेन्नई, कांचीपुरम
भाषा तमिल, कन्नड़, हिन्दी, मलयालम और अंग्रेज़ी
अन्य जानकारी अंग्रेज़ों द्वारा 1821 में स्थापित ऊटी का इस्तेमाल 1947 में भारत के स्वतंत्र होने तक मद्रास प्रेज़िडेंसी के ग्रीष्मकालीन सरकारी मुख्यालय के रूप में किया जाता था।
अद्यतन‎

ऊटी (अंग्रेज़ी:Ooty) तमिल नाडु राज्य, दक्षिण-पूर्वी भारत में स्थित है। ऊटी का पुराना नाम उटकमंड और उदगमंडलम था। यह समुद्रतल से 2,240 मीटर की ऊँचाई पर बसा हुआ है। ऊटी नीलगिरि ज़िले का प्रशासनिक मुख्यालय है और नीलगिरि पहाड़ियों में स्थित है। इसके चारों तरफ कई चोटियाँ हैं, जिनमें तमिल नाडु का सबसे ऊँचा क्षेत्र डोडाबेट्टा (2,637 मीटर) भी शामिल है।

उदगमंडमल

पर्वतीय स्थलों की रानी ऊटी का वास्तविक नाम उदगमंडमल है। तमिल नाडु में स्थित ऊटी दक्षिण भारत का सबसे प्रसिद्ध हिल स्टेशन है। पश्चिमी घाट पर स्थित ऊटी समुद्र तल से 2240 मीटर की ऊंचाई पर है। ऊटी नीलगिरी ज़िले का मुख्यालय भी है। यहां सदियों से ज़्यादातर तोडा जनजाति के लोग रहते है। लेकिन ऊटी की वास्तविक खोज करने और उसके विकास का श्रेय अंग्रेजों को जाता है। 1822 में कोयंबटूर के तत्कालीन कलक्टर जॉन सुविलिअन ने यहां स्टोन हाउस का निर्माण करवाया था जो अब गवर्मेट आर्ट कॉलेज के प्रधानाचार्य का चैंबर है और ऊटी की पहचान भी। ब्रिटिश राज के दौरान ऊटी मद्रास प्रेसिडेंसी की ग्रीष्मकालीन राजधानी थी।[1]

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. 1.0 1.1 ऊटी:दक्षिण भारत का सबसे प्रसिद्ध हिल स्टेशन (हिन्दी) यात्रा सलाह। अभिगमन तिथि: 22 दिसम्बर, 2014।
  2. 2.0 2.1 ऊटी पर्यटन – पहाड़ियों की रानी (हिन्दी) hindi native planet। अभिगमन तिथि: 22 दिसम्बर, 2014।

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=ऊटी&oldid=575837" से लिया गया