चेन्नई  

चेन्नई
Chennai-Colaj.jpg
विवरण चेन्नई शहर (भूतपूर्व मद्रास), तमिलनाडु राज्य की राजधानी, दक्षिणी भारत, बंगाल की खाड़ी के कोरोमण्डल तट पर स्थित है। तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई भारत के चार महानगरों में से एक है।
राज्य तमिलनाडु
ज़िला चेन्नई ज़िला
स्थापना 17वीं शताब्दी
भौगोलिक स्थिति उत्तर- 13.04°, पूर्व- 80.17°
मार्ग स्थिति यह शहर सड़क द्वारा महाबलीपुरम से 60.7 किलोमीटर, वेल्लोर से 113 किलोमीटर, कन्याकुमारी से 699 किलोमीटर, दिल्ली से 2,141 किलोमीटर दूरी पर स्थित है।
कब जाएँ नवम्बर से फ़रवरी
कैसे पहुँचें जलयान, हवाई जहाज़, रेल, बस आदि से पहुँचा जा सकता है।
हवाई अड्डा चेन्नई अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा
रेलवे स्टेशन चेन्नई सेंट्रल रेलवे स्टेशन, चेन्नई एगमोर रेलवे स्टेशन
बस अड्डा मेट्रोपॉलिटन ट्रांस्पोर्ट कार्पोरेशन, चेन्नई मोफस्सिल बस टर्मिनस
यातायात साइकिल-रिक्शा, ऑटो-रिक्शा, मीटर-टैक्सी, सिटी बस और मेट्रो रेल
क्या देखें चेन्नई पर्यटन
कहाँ ठहरें होटल, धर्मशाला, अतिथि ग्रह
क्या खायें इडली, सांभर और डोसा
क्या ख़रीदें साड़ियाँ, शिल्प की ख़रीददारी और समकालीन कला के लिए रामास्वामी रोड पर स्थित सी.पी. जा सकते हैं।
एस.टी.डी. कोड 044
ए.टी.एम लगभग सभी
Map-icon.gif गूगल मानचित्र, चेन्नई अन्तर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा
अद्यतन‎

चेन्नई शहर (भूतपूर्व मद्रास), तमिलनाडु राज्य की राजधानी, दक्षिणी भारत, बंगाल की खाड़ी के कोरोमण्डल तट पर स्थित है। तमिलनाडु की राजधानी चेन्नई भारत के चार महानगरों में से एक है। समुद्र किनारे बसे इस शहर में बंदरगाह भी है और इसे पहले मद्रास के नाम से जाना जाता था। मद्रास मछुआरे के गाँव मद्रासपटनम का छोटा रूप था। जहाँ ब्रिटिश ईस्ट इण्डिया कम्पनी ने 1639-40 में एक क़िले और व्यापारिक चौकी का निर्माण किया था। उस समय सूती कपड़े की बुनाई एक स्थानीय उद्योग था और अंग्रेज़ों ने बुनकरों तथा स्थानीय व्यापारियों को क़िले के आसपास बसने के लिए बुलाया। 1652 तक फ़ोर्ट सेंट जार्ज फ़ैक्ट्री को प्रेज़िडेंसी[1] की प्रतिष्ठा मिल गई और 1668 और 1749 के बीच कम्पनी ने अपने नियंत्रण का विस्तार किया। 1801 के लगभग अन्तिम स्थानीय शासक से उसकी शक्तियाँ छीन ली गईं और अंग्रेज़ दक्षिण भारत के स्वामी बन गए। तब मद्रास उनकी प्रशासकीय तथा व्यापारिक राजधानी बन गया।

मद्रास (वर्तमान चेन्नई) का एक दृश्य

चेन्नई का मरीना बीच विश्व का दूसरा सबसे बड़ा बीच है। यह शहर शिष्टाचार, सौम्यता और सभ्यता का प्रतीक है। अनेक मंदिर, क़िले, चर्च, पार्क, बीच, मस्जिद इस शहर की ख़ूबसूरती में चार चाँद लगाते हैं। इसे दक्षिण का गेटवे कहा जाता है। यह शहर दक्षिण की फ़िल्म इंडस्ट्री का हब भी है। चेन्नई ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा स्थापित प्रथम बंदोबस्त का शहर था।

स्थापना

चेन्नई ईस्ट इंडिया कंपनी द्वारा स्थापित प्रथम बंदोबस्त का शहर था। उन दिनों चेन्नई को टोन्डेमंडलम के नाम से जाना जाता था। उस समय का सैन्‍य मुख्यालय पजहल में था। वर्तमान मे अब यह शहर के बाहरी छोर पर स्थित एक छोटे से महत्वहीन गांव में तब्‍दील हो चुका है। उन्नीसवीं शताब्दी में यह शहर मद्रास प्रेजीडेन्सी के नाम से जाना गया। यह शहर ब्रिटिश साम्राज्य का दक्षिणी मंडल था। आज़ादी के बाद मद्रास को तमिलनाडु की राजधानी बना दिया गया।

सन 1639 ई. में ईस्ट इंडिया कंपनी के कर्मचारी फ़्रांसिस डे ने विजयनगर के राजा से कुछ भूमि लेकर इस नगर की स्थापना की थी। उस समय का बना हुआ क़िला अभी तक विद्यमान है। मद्रास के उपनगर मायलापुर में कपालीश्वर शिव का प्राचीन मंदिर है। मायलापुर का शाब्दिक अर्थ मयूरनगर है। पौराणिक जनश्रुति के अनुसार पार्वती ने मयूर का रूप धारण करके शिव जी की इस स्थान पर पूजा की थी। इसी कथा का अंकन इस मंदिर की मूर्तिकारी में है। मंदिर के पीछे एक पवित्र ताल है। ट्रिप्लीकेन में पार्थसारथी का मंदिर भी उल्लेखनीय है। मद्रास के स्थान पर प्राचीन समय में चैन्नापटम् नामक ग्राम बसा हुआ था।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. अध्यक्ष द्वारा शासित एक प्रशासकीय इकाई
  2. दोनों दक्कन मुस्लिम शैली में
  3. दोनों भारतीय मुस्लिम शैली में
  4. बंगाल की खाड़ी के दक्षिणी कोरोमण्डल तट और दक्कन के पठार के बीच स्थित क्षेत्र का प्रसिद्ध संगीत
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख


और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=चेन्नई&oldid=598727" से लिया गया