पेरिअमरियम्मन मन्दिर  

पेरिअमरियम्मन मन्दिर तमिलनाडु के इरोड शहर में प्रसिद्ध धार्मिक स्थल है। यह मन्दिर इरोड के केन्द्र में स्थित है। 'मरियम्मन' सभी देवियों की रानी हैं।

  • इस मन्दिर को 1200 वर्ष पहले कोंगू चोलों ने निर्मित कराया था।
  • मन्दिर का क्षेत्रफल साढ़े तीन हज़ार वर्ग मीटर है।
  • 'पोंगल' का प्रसिद्ध एवं महान् पर्व मन्दिर परिसर के अन्दर ही मनाया जाता है। यह अप्रैल के महीने में आयोजित किया जाता है और यह पूरे दक्षिण भारत के सबसे पवित्र पर्वों में से एक है। त्यौहार के दौरान आने वाले तीर्थ यात्रियों द्वारा मन्दिर को बहुच पवित्र माना जाता है।[1]
  • 'मा-विलाकू पूजा' एक बहुत ही विशेष प्रकार की पूजा है, जो श्रृद्धालुओं द्वारा त्यौहार के दौरान की जाती है।
  • ऐसा माना जाता है कि मरियम्मन के पास सभी प्रकार के रोगों को हरने की शक्तियाँ हैं।
  • पूरे पेरिअमरियम्मन मन्दिर पर शानदार मूर्तियों के साथ मन्दिर की स्थापत्य कला बहुत प्रसिद्ध है।


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. पेरिअमरियम्मन मन्दिर, इरोड (हिन्दी) नेटिव प्लेनेट। अभिगमन तिथि: 08 जनवरी, 2015।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=पेरिअमरियम्मन_मन्दिर&oldid=604026" से लिया गया