पहलगाम  

पहलगाम
पहलगाम
विवरण पहलगाम धरती पर स्वर्ग माने जाने वाले कश्मीर के सबसे ख़ूबसूरत हिल स्टेशनों में एक है।
राज्य जम्मू और कश्मीर
ज़िला अनंतनाग
भौगोलिक स्थिति उत्तर- 34° 01' - पूर्व- 75° 11'
मार्ग स्थिति पहलगाम सड़क मार्ग द्वारा अनंतनाग से 38.8 किमी, श्रीनगर से 48.3 किमी, जम्मू से 282 किमी, दिल्ली से 831 किमी की दूरी पर स्थित है।
कब जाएँ मई से सितम्बर और नवंबर से फरवरी
कैसे पहुँचें हवाई जहाज़, रेल, बस, टैक्सी आदि से पहुँचा जा सकता है।
हवाई अड्डा श्रीनगर हवाई अड्डा
रेलवे स्टेशन ऊधमपुर रेलवे स्टेशन
यातायात बस, टैक्सी आदि
क्या देखें ममलेश्वर मंदिर, ओवेरा वन्यजीव अभयारण्य, मरतड मंदिर, अचबल, चंदनवाड़ी, तुलियन झील, बाईसरन, अरू घाटी आदि
कहाँ ठहरें होटल, गेस्ट हाउस
क्या ख़रीदें ऊन से बने कपड़े
एस.टी.डी. कोड 1936
Map-icon.gif गूगल मानचित्र
अन्य जानकारी समुद्र तल से 2130 मीटर की ऊँचाई पर स्थित पहलगाम लिद्दर नदी और शेषनाग झील के मुहाने पर बसा है।

पहलगाम (अंग्रेज़ी:Pahalgam) धरती पर स्वर्ग माने जाने वाले कश्मीर के सबसे ख़ूबसूरत हिल स्टेशनों में एक है। समुद्र तल से 2130 मीटर की ऊँचाई पर स्थित पहलगाम लिद्दर नदी और शेषनाग झील के मुहाने पर बसा है। अनंतनाग ज़िले में चारों ओर बर्फ़ से ढकी चोटियों, चमकते ग्लेशियर और छलछल करती नदी के बीच बसा पहलगाम सैलानियों के मन में अमिट छाप छोड़ता है।

पर्यटन स्थल

ममलेश्वर मंदिर

पहलगाम से 1 किमी की दूरी पर ममल गाँव स्थित है। यहाँ लिद्दर नदी के दूसरी तरफ ममलेश्वर नामक शिव का एक छोटा मंदिर है। इस मंदिर का संबंध 12 शताब्दी के राजा जयसीमा के काल से है। यह मंदिर कश्मीर के सबसे प्राचीन मंदिरों में एक है।

बाईसरन

150 मीटर ऊंचा यह घास का मैदान पहलगाम से लगभग 5 किमी दूर है। पहलगाम और लिद्दर नदी के मनोरम नजार यहां से देखे जा सकते हैं। बाईसरन अथवा बैसारन पाइन के वनों और बर्फ़ से आच्छादित चोटियों से घिरा है।

पहलगाम से बहती हुई लिद्दर नदी

तुलियन झील

यह झील बैसारन से 11 किमी की दूरी पर है। साल के अधिकांश समय बर्फ़ से ढकी चोटियों से घिरी यह ख़ूबसूरत झील 3353 मीटर की ऊंचाई पर है। यहां के दृश्य सभी को आश्चर्यचकित कर देते हैं।

मरतड मंदिर

मतन गाँव में एक ऊँचे पठार पर स्थित मरतड मंदिर के अवशेष बड़ी संख्या में सैलानियों को आकर्षित करते हैं। मंदिर में स्थापित देवता की मूर्ति के नाम पर ही गाँव का नाम मतन या मरतड पड़ा। ललितादित्य मुख्तापिड़ा द्वारा बनवाया गया यह मंदिर कश्मीर के सबसे आकर्षण अवशेषों में है।

अरू घाटी

चहचहाते पक्षियों की आवाज, सरसराती ठंडी हवाओं और नीले आकाश के बीच बसा अरू समुद्र तल से 2408 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। शहरी जीवन से दूर लिद्दर नदी के किनारे बसा अरू हरा भरा और मैदानी इलाका है।

अरू के रास्ते में, पहलगाम

अचबल

यह छोटा क़स्बा मुग़ल गार्डन के लिए प्रसिद्ध है। इस गार्डन को नूरजहाँ ने बनवाना शुरू करवाया था और इसे पूरा शाहजहाँ की पुत्री जहाँआरा ने 1640 में करवाया। इस गार्डन को कश्मीर के सबसे सावधानी से डिजाइन किए गए गार्डन में एक माना जाता है। कहा जाता है यह गार्डन नूरजहाँ का पसंदीदा आरामगाह था। एक झरने की तीन नहरों से गार्डन को पानी मिलता है। मुख्य नहर में कुछ आकर्षण फ़व्वारे हैं।

चंदनवाड़ी

पहलगाम से 16 किमी दूर स्थित चंदनवाड़ी अमरनाथ यात्रा का प्रारंभिक स्थान है जो सावन के महीने में शुरू होती है। अमरनाथ गुफा को शिव का घर माना जाता है। चंदनवाड़ी से 11 किमी की दूरी पर शेषनाग की पर्वतीय झील है। यहां से 13 किमी दूर पंचतरणी अमरनाथ यात्रा का अंतिम पडाव है। पंचतरणी से 6 किमी दूर अमरनाथ गुफा है।

हजन

चंदनवाड़ी मार्ग पर स्थित हजन एक ख़ूबसूरत पिकनिक स्थल है। इस स्थान की ख़ूबसूरती फ़िल्म निर्माताओं को काफ़ी लुभाती है। यहाँ की लोकेशन कई फ़िल्मों में देखी जा सकती है।

ओवेरा वन्यजीव अभयारण्य

32.27 वर्ग किमी के क्षेत्र में फैला ओवेरा वन्यजीव अभयारण्य पहलगाम के निकट स्थित है। यहाँ बहुत-सी दुर्लभ और लुप्तप्राय पक्षियों और मेमल की प्रजातियों देखी जा सकती हैं।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. पहलगाम (हिन्दी) हिन्दी वेबसाइट। अभिगमन तिथि: 6 सितम्बर, 2011।
  2. पहलगाम (हिन्दी) यात्रा सलाह। अभिगमन तिथि: 6 सितम्बर, 2011।

बाहरी कड़ियाँ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=पहलगाम&oldid=627169" से लिया गया