पार्थसारथी मंदिर चेन्नई  

पार्थसारथी मंदिर चेन्नई
पार्थसारथी मंदिर, चेन्नई
वर्णन पार्थसारथी मंदिर चेन्नई के प्रमुख ट्रिपलिकेन बीच में स्थित है।
स्थान चेन्नई
निर्माता पल्लव वंश
निर्माण काल 8वीं शताब्दी
देवी-देवता कृष्ण
वास्तुकला गोपुरम और वास्तुशिल्प
भौगोलिक स्थिति उत्तर- 13° 3' 14.22", पूर्व- 80° 16' 36.30"
संबंधित लेख कपालेश्वर मंदिर
मानचित्र लिंक गूगल मानचित्र
अन्य जानकारी पार्थसारथी का अर्थ संस्कृत में अर्जुन का सारथी से है, जो महाभारत में युद्ध के समय अर्जुन के सारथी श्री कृष्ण थे।
बाहरी कड़ियाँ पार्थसारथी मंदिर
अद्यतन‎

पार्थसारथी मंदिर चेन्नई के प्रमुख ट्रिपलिकेन बीच में स्थित है।

  • पार्थसारथी का अर्थ संस्कृत में अर्जुन का सारथी से है, जो महाभारत में युद्ध के समय अर्जुन के सारथी श्री कृष्ण थे।
  • पार्थसारथी मंदिर का निर्माण 8वीं शताब्दी में हुआ था जो श्री कृष्ण को समर्पित है।
  • पल्‍लवों के समय में इस बीच का प्रयोग बंदरगाह के रूप में होता था।
  • पार्थसारथी मंदिर अपने गोपुरम और वास्तुशिल्प के लिए प्रसिद्ध है।
पार्थसारथी मंदिर, चेन्नई
पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=पार्थसारथी_मंदिर_चेन्नई&oldid=281478" से लिया गया