कस्तूरी अरंगनाथर मन्दिर  

कस्तूरी अरंगनाथर मन्दिर तमिलनाडु के प्रसिद्ध शहर इरोड में स्थित है। यह ऐसा मन्दिर है, जिसके साथ काफ़ी बड़ा इतिहास जुड़ा हुआ है। इस मन्दिर को इरोड में सबसे सुन्दर और पवित्र तीर्थ स्थान माना जाता है।

  • इस मन्दिर की इष्टदेवी 'कस्तूरी' हैं। ये इष्टदेवी अन्य रंगनाथ पेरूमल इष्टदेवों से अलग हैं।
  • कई प्रकार की भ्रान्तियाँ भी कस्तूरी अरंगनाथर मन्दिर से जुड़ी हुई हैं।
  • मन्दिर के द्वारपालकों को इसकी सबसे बड़ी विशेषता माना जाता है और वास्तव में ये देखने में बहुत आकर्षक हैं।
  • एक किंवदंती के अनुसार द्वारपालक वास्तव में वे देवता हैं, जिन्हें राक्षस होने का श्राप मिल गया था और वे इसीलिए ईश्वर की आराधना कर रहे हैं।
  • कमलावल्ली थयार देवी की ही यहाँ आराधना की जाती है।
  • मन्दिर में नियमित रूप से तीर्थयात्री आते हैं। मन्दिर का मुख्य पर्व मन्दिर परिसर में ही मार्च के महीने में आयोजित किया जाता है।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. कस्तूरी अरंगनाथर मन्दिर, इरोड (हिन्दी) नेटिव प्लेनेट। अभिगमन तिथि: 08 जनवरी, 2015।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=कस्तूरी_अरंगनाथर_मन्दिर&oldid=571720" से लिया गया