राजनारायण बोस  

राजनारायण बोस
राजनारायण बोस
पूरा नाम राजनारायण बोस
जन्म 7 सितम्बर,1826
जन्म भूमि बोरहाल गाँव, 24 परगना, पश्चिम बंगाल
मृत्यु 18 सितम्बर, 1899
अभिभावक पिता- नंद किशोर बसु
कर्म भूमि भारत
मुख्य रचनाएँ 'हिन्दु धर्मेर श्रेष्ठता', 'सेकाल आर एकाल', 'सारधर्म', 'ताम्बुलोप हार', 'बृद्ध हिन्दुर आशा' आदि।
भाषा बांग्ला
प्रसिद्धि बांग्ला साहित्यकार
नागरिकता भारतीय
इन्हें भी देखें कवि सूची, साहित्यकार सूची

राजनारायण बोस या राजनारायण बसु (अंग्रेज़ी: Rajnarayan Basu, जन्म- 7 सितम्बर,1826, पश्चिम बंगाल; मृत्यु- 18 सितम्बर, 1899) बांग्ला भाषा के प्रसिद्ध लेखक और बंगाली पुनर्जागरण के चिंतकों में से एक थे।

  • राजनारायण बोस का जन्म 7 सितम्बर सन 1826 को पश्चिम बंगाल के 24 परगना के बोरहाल नामक गाँव में हुआ था।
  • इनके पिता का नाम नंद किशोर बसु था, जो कि राजा राममोहन राय के शिष्य थे और फिर बाद में उनके सचिव बन गये।
  • बचपन से ही राजनारायण जी प्रबल बुद्धि और प्रतिभा वाले छात्र रहे। उनके शिक्षक भी उनकी तीव्र बुद्धि की प्रशंसा करते थे।
  • राजनारायण बोस ने कठोपनिषद, केनोपनिषद, मुण्डकोपनिषद तथा श्वेताश्वेतर उपनिषद आदि उपनिषदों का अंग्रेज़ी में अनुवाद किया। उनके कुछ उल्लेखनीय ग्रन्थ हैं-
  1. ब्राह्मधर्मेर उच्च आदर्श ओ आमादिगेर आध्यात्मिक अभाव (1875)
  2. हिन्दु अथबा प्रेसिडेन्सि कलेजेर इतिबृत्त (1876)
  3. आत्मीय सभार सदस्यदेर बृत्तान्त (1867)
  4. हिन्दु धर्मेर श्रेष्ठता (1873)
  5. सेकाल आर एकाल (1874)
  6. सारधर्म (1886)
  7. बांग्ला भाषा ओ साहित्य बिषयक बक्तृता (1878)
  8. बिबिध प्रबन्ध (प्रथम खन्ड-1882)
  9. ताम्बुलोप हार (1886)
  10. राजनारायण बसुर बक्तृता (प्रथम भाग-1855, द्वितीय भाग-1870)
  11. ब्राह्म साधन (1865)
  12. धर्मतत्त्बदीपिका (प्रथम भाग-1866, द्वितीय भाग-1867)
  13. बृद्ध हिन्दुर आशा (1887)
  14. राजनारायण बसुर आत्मचरित (1909)

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=राजनारायण_बोस&oldid=621534" से लिया गया