निमाड़  

निमाड़ मध्य प्रदेश का पश्चिमी क्षेत्र है। इसके भौगोलिक सीमाओं में एक तरफ़ विन्ध्य पर्वत और दूसरी तरफ़ सतपुड़ा हैं, जबकि मध्य में नर्मदा नदी है। पौराणिक काल में निमाड़ अनूप जनपद कहलाता था। बाद में इसे निमाड़ की संज्ञा दी गयी।

विभाजन

निमाड़ दो हिस्सों में विभाजित है- पूर्वी और पश्चिमी निमाड़।

  • यहाँ की बोली निमाड़ी कहलाई जाती है। पश्चिमी निमाड़ में खरगोन, गोगांव, महेश्वर, सेंधवा, भिकनगाव जैसे नगर है।
  • पूर्वी निमाड़ में खंडवा, हरसूद, पुनासा जैसे नगर है।

इसके भौगोलिक सीमाओं में निमाड़ के एक तरफ़ विन्ध्य पर्वत और दूसरी तरफ़ सतपुड़ा हैं, जबकि मध्य में नर्मदा नदी है। पौराणिक काल में निमाड़ अनूप जनपद कहलाता था। ऐसा अनुमान है कि आर्य एवं अनार्य सभ्यताओं की मिश्रित भूमि होने के कारण यह क्षेत्र निमार्य नाम से जाना जाने लगा जो कि कालांतर में अपभ्रंश होकर निमार एवं फिर निमाड़ में परिवर्तित हो गया। एक अन्य मतानुसार यह नाम नीम के वृक्षों के कारण पड़ा।

टीका टिप्पणी और संदर्भ

संबंधित लेख

और पढ़ें

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=निमाड़&oldid=647678" से लिया गया