फूल बाग़, ओरछा  

फूल बाग़ (अंग्रेज़ी: Phool Bagh, Orchha) ओरछा, मध्य प्रदेश का एक खूबसूरत प्रतीक है और बुंदेलखंड राजवंश के सौंदर्य बोध के मूल्यों का प्रतिनिधित्व करता है, जो मध्य प्रदेश में इस छोटे से राज्य के शासक थे।

  • यह उद्यान हरियाली से युक्त एक शानदार स्थान है, जिसमें फव्वारे कतारबद्ध लगे हैं।
  • इसमें एक भूमिगत संरचना भी है, जिसका उपयोग ओरछा के राजाओं द्वारा गर्मियों में रहने के लिए किया जाता था।
  • उद्यान बहुत ही योजनाबद्ध ढंग से बना हुआ है और इसमें पानी के प्रवाह की एक सरल प्रणाली है जो भूमिगत महल को चंदन कटोरा से जोड़ती है, जो एक कटोरे जैसी संरचना है जिसके फव्वारों से टपकती पानी की बूंदें छत से बारिश की तरह नीचे गिरते हुए भवन को ठंडा रखती हैं।
  • फूल बाग़ में बदगीर सावन भादों मीनार भी है, जो हवा को आने देने और जगह को ठंडा करने के लिए बनाई गई थी।
  • यह उद्यान अपनी प्राकृतिक सुंदरता और वास्तुशिल्पीय विशेषताओं के लिए यात्रियों को लुभाता है।
  • इसके साथ एक दु:खद कहानी जुड़ी हुई है। कहा जाता है कि यह ओरछा के राजकुमार दीनमन हरदौल की याद में बनाया गया था। माना जाता है कि अपने बड़े भाई के सामने अपनी बेगुनाही साबित करने के लिए राजकुमार ने अपनी जान दे दी थी।[1]


पन्ने की प्रगति अवस्था
आधार
प्रारम्भिक
माध्यमिक
पूर्णता
शोध

टीका टिप्पणी और संदर्भ

  1. फूल बाग़ (हिंदी) incredibleindia.org। अभिगमन तिथि: 06 अप्रॅल, 2021।

संबंधित लेख

वर्णमाला क्रमानुसार लेख खोज

                              अं                                                                                                       क्ष    त्र    ज्ञ             श्र   अः



"http://m.bharatdiscovery.org/w/index.php?title=फूल_बाग़,_ओरछा&oldid=660832" से लिया गया
<